मुजफ्फरपुर, जेएनएन। एईएस/चमकी बुखार पर प्रभावी नियंत्रण और इलाज को लेकर जिलाधिकारी आलोक रंजन घोष की अध्यक्षता में जिला स्तरीय एईएस/जेई कोर कमेटी की बैठक हुई। समाहरणालय स्थित सभा कक्ष में आयोजित बैठक में जिलाधिकारी ने विभिन्न विभागों और कमेटियों के कार्यों की समीक्षा की। साथ ही एईएस को लेकर गठित एईएस एवं प्रत्यक्ष कार्रवाई विंग व पॉलिसी विंग समेत सभी विंग के कार्य एवं दायित्व के बारे में विस्तृत जानकारी दी।

 जिलाधिकारी ने सभी स्तरों पर दवा, इलाज व उपकरणों की उपलब्धता तथा प्रशिक्षण आदि की जानकारी ली। जिलाधिकारी ने कहा की एईएस /चमकी बुखार पर प्रभावी नियंत्रण के मद्देनजर बनाई गई कार्य योजना को धरातल पर उतारने के लिए जिला प्रशासन कटिबद्ध है। कहा कि जिला स्तरीय कोर कमेटी के अतिरिक्त पांच उप समितियां विभिन्न अधिकारियों की अध्यक्षता में बनाई गई हैं। मैटरनल एवं शिशु स्वास्थ्य केयर सेंटर बनकर तैयार है। पीआईसीयू का निर्माण किया जा रहा है।

  इसे अप्रैल के अंत तक हैंडओवर करा दिया जाएगा। कहा कि यह दो ऐसी नई व्यवस्थाएं हैं जो व्यापक रूप से आधुनिक सुविधाओं से लैस होंगे। सीएस डॉ. एसपी सिंह ने बताया विशेष जेई वैक्सीनेशन के तहत एक से 10 आयुवर्ग के लक्षित 351500 बच्चों में 158287 का टीकाकरण किया जा चुका है।

 आयुष्मान भारत योजना के तहत जिले के सभी सरकारी अस्पतालों व मेडिकल कॉलेज के अलावा 21 निजी संस्थानों को भी इस योजना से जोड़ा गया है। अब तक लक्षित 520094 परिवार में 89451 परिवारों को गोल्डन कार्ड उपलब्ध कराया जा चुका है। बैठक में जिला परिषद अध्यक्ष इंदिरा देवी, नगर आयुक्त मणेश कुमार मीणा, डीडीसी उज्जवल कुमार सिंह, सीएस डॉ. एसपी सिंह, जिला वेक्टर जनित रोग पदाधिकारी डॉ. सतीश कुमार, जिला स्वास्थ्य प्रबंधक बीपी वर्मा, डाटा प्रबंधक जयशंकर आदि मौजूद थे।

Posted By: Murari Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस