समस्तीपुर, जासं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अगले कुछ दिनों में शिवाजीनगर प्रखंड के परसा स्थित बरियाहीघाट पर निर्मित रिंग बांध का भ्रमण कर सकते हैं। सीएम के संभावित दौरे को लेकर प्रशासनिक स्तर पर तैयारी तेज हो गई है। अभी से ही सीएम के संभावित आगमन को लेकर पूरी तैयारी में प्रशासन जुट गया है। जिलाधिकारी शशांक शुभंकर अधिकारियों के साथ उक्त तटबंध पर पहुंचकर निरीक्षण किया। वहीं इस दौरान अधिकारियों को कई निर्देश भी दिए।

बताया जाता है कि सीएम के संभावित कार्यक्रम के मद्देनजर हेलीपैड का निर्माण, बैरिकेड‍िंग , विधि व्यवस्था के बिंदु को चिन्हित करने समेत अन्य विन्दुओं पर अधिकारियों को दिशा निर्देश दिया गया। डीएम ने सीएम के संभावित कार्यक्रम में शामिल होने वाले पदाधिकारियों, कर्मियों एवं मजदूरों का टीकाकरण सुनिश्चित कराने का निर्देश पीएचसी प्रभारी को दिया। हेलीकॉप्टर के साथ सड़क मार्ग को लेकर भी तैयारी की जा रही है। सीएम के संभावित आगमन को लेकर रूट प्लान भी तैयार करने को कहा गया है। डीएम के साथ निरीक्षण में अपर समाहर्ता, नजारत उप समाहर्ता, कार्यपालक अभियंता भवन निर्माण, बाढ़ प्रबंधन, विशेष कार्य पदाधिकारी, जिला जन संपर्क पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचल अधिकारी, प्रभारी पदाधिकारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र एवं अन्य पदाधिकारी रहे।

उपमुख्यमंत्री ने पार्षदों से की  सौंदर्यीकरण व जल निकासी पर चर्चा

बेतिया। उपमुख्यमंत्री रेणु देवी शुक्रवार की शाम में सर्किट हाउस में नगर निगम के कार्यकारी सभापति व पार्षदों के साथ बैठक कर शहर के सौंदर्यीकरण व जल निकासी के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की। इस दौरान उपमुख्यमंत्री ने शहर व आसपास के इलाकों की समस्याओं के बारे में भी जाना। कार्यकारी सभापति मोहम्मद कयूम अंसारी व पार्षदों ने जलजमाव के कारणों से उपमुख्यमंत्री से अवगत कराया। विचार विमर्श के दौरान जल जमाव का एक बड़ा कारण अतिक्रमण बताया गया। इसके लिए उपमुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन व अन्य अधिकारियों को अतिक्रमण हटाने के लिए निर्देशित करने की बात कही। कार्यकारी सभापति ने बताया कि उपमुख्यमंत्री ने सभी पार्षदों की बात गौर से सुनी और इस पर उचित कार्रवाई करने की आश्वासन दी। उन्होंने शनिवार कि अधिकारियों के साथ आयोजित बैठक में इसकी चर्चा की। बैठक में भाजपा जिलाध्यक्ष दीपेंद्र सर्राफ, कार्यकारी सभापति मोहम्मद कयूम अंसारी, सशक्त स्थाई समिति सदस्य संजय कुमार ङ्क्षसह, जवाहर प्रसाद, दीपेंद्र कुमार, रमाकांत महतो, पार्षद व पार्षद प्रतिनिधि आदि शामिल हुए।