समस्तीपुर, जेएनएन। उत्तर बिहार में मध्यम बादल छाए रहेंगे। इसके कारण अगले 24 से 48 घंटों के दौरान तराई एवं मैदानी दोनों इलाके में गरजवाले बादल के साथ छिटपुट वर्षा हो सकती है। कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश होने के भी आसार हैं। मंगलवार को अगले छह अक्टूबर तक के लिए जारी मौसम पूर्वानुमान में यह बात कही गई है। डॉ. राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय, पूसा के मौसम वैज्ञानिक डॉ. ए सत्तार ने नियमित बुलेटिन जारी करते हुए कहा है कि पूर्वानुमान की अवधि में उतर बिहार के जिलों में मध्यम बादल छाए रह सकते हैं।

 अगले 24-48 घंटे के दौरान तराई एवं मैदानी जिलों में गरजवाले बादल बनने के साथ छिटपुट बारिश हो सकती है। 4-5 अक्टूबर के आसपास कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने का अनुमान है। मौसम विभाग ने कहा है कि इस दौरान अधिकतम तापमान 29 से 31 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने का अनुमान है। जबकि, न्यूनतम तापमान 23 से 25 डिग्री सेल्सियस के आस-पास रह सकता है। औसतन 08 से 10 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से मुख्यतः पुरवा हवा चलने का अनुमान जताया गया है। सापेक्ष आर्द्रता सुबह में 90 से 95 प्रतिशत तथा दोपहर में 80 से 85 प्रतिशत रहने की संभावना है। 

कृषि कार्यों में बरतें सावधानी

किसानों के लिए जारी समसामयिक सुझाव में कहा है कि पिछले सप्ताह उत्तर बिहार के तराई एवं मैदानी जिलों के अनेक स्थानों पर भारी से अति भारी वर्षा हुई है। इसके कारण खेतों में जलजमाव की स्थिति उत्पन्न हो गई है। कहीं-कहीं बाढ़ जैसी स्थिति बन गई है। मौसम पूर्वानुमान की अवधि में छिटपुट वर्षा की संभावना को देखते हुए किसानों को कृषि कार्यो में सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। 

 खड़ी फसलों एवं सब्जियों में जमा हुए अधिक वर्षा जल की निकासी की व्यवस्था अविलंब करें। कद्दूवर्गीय सब्जियों को ऊपर चढ़ाने की व्यवस्था करें, ताकि वर्षा से सब्जियों की लत्तर को गलने से बचाया जा सके। सब्जियों की नर्सरी में जमा हुए अधिक वर्षा जल के निकासी की व्यवस्था करें।

Posted By: Ajit Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप