मुजफ्फरपुर, जेएनएन। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद (सीबीएसई) ने 2019-20 सत्र के लिए 10वीं और 12वीं कक्षा के परीक्षा पैटर्न में बदलाव किए हैं। अब हर विषय के पेपर में एक-एक नंबर के 25 वस्तुनिष्ठ (बहुविकल्पीय) प्रश्न भी होंगे। ये पूर्व में नहीं होते थे। माना जा रहा कि इससे विद्यार्थियों को सुविधा होगी। 

नए पैटर्न पर परीक्षा कराने में सीबीएसई की मंशा परीक्षार्थियों की गहन सोच और तर्क क्षमता को बढ़ाने की है। 20 फीसदी सवालों को बहुविकल्पलीय और 10 फीसद को रचनात्मक बनाया जाएगा। जिन पेपरों में प्रैक्टिकल नहीं होते हैं, उनमें आंतरिक मूल्यांकन किया जाएगा। ये 20 अंक का होगा।

  10वीं में उत्तीर्ण होने के लिए अब 33 फीसद अंक लाने होंगे। वहीं 12वीं की परीक्षा में ये नियम लागू नहीं होगा। इंटर में उत्तीर्ण होने के लिए प्रैक्टिकल व थ्योरी दोनों मिलाकर 33 फीसद अंक लाना होगा। थ्योरी के 70 अंक के पेपर में 23, और 80 अंक वाले पेपर विषय में 26 अंक लाना जरूरी है। आंतरिक मूल्यांकन में 33 फीसद व प्रैक्टिकल में अलग-अलग 33 फीसद अंक जरूरी हैं। डीएवी पब्लिक स्कूल मालीघाट के वरिष्ठ अध्यापक डीके ठाकुर ने कहा कि सीबीएसई के निर्देश के आलोक में विद्यार्थियों को तैयारी कराई जा रही है।  

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस