मुजफ्फरपुर,जेएनएन। पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड में एडीजे-छह राधेश्याम शुक्ल के विशेष कोर्ट में सुनवाई के दौरान सीबीआइ लगातार छठी तारीख को गैरहाजिर रही। इससे साक्ष्य पेश करने की प्रक्रिया नहीं हुई। विशेष कोर्ट की ओर से साक्ष्य पेश करने के लिए सीबीआइ के निदेशक को दो बार पत्र लिखा गया। इसके बाद भी सीबीआइ की ओर से कोई विशेष कोर्ट में उपस्थित नहीं हुए। इससे सुनवाई टल गई है। अब अगली सुनवाई 12 दिसंबर को होगी।

इस बार भी बचाव पक्ष की ओर से अधिवक्ता शरद सिन्हा ने साक्ष्य बंद करने की प्रार्थना विशेष कोर्ट से की। इस मामले में तकनीकी खराबी के कारण तिहाड़ जेल में बंद पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से पेशी नहीं हो सकी। भागलपुर जेल में बंद अजहरूद्दीन बेग उर्फ लड्डन मियां की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से पेशी हुई। वहीं, मुजफ्फरपुर जेल में बंद छह अन्य आरोपितों को विशेष कोर्ट के समक्ष उपस्थित कराया गया।

रुक गई साक्ष्य पेश करने की प्रक्रिया

सीबीआइ के विशेष लोक अभियोजक के नहीं पहुंचने से विशेष कोर्ट में साक्ष्य की प्रक्रिया रुक गई है। पिछले दिनों सीबीआइ मुख्यालय ने पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड में अभियोजन साक्ष्य पेश करने की जिम्मेदारी पटना टीम को सौंपी थी। इससे पहले दिल्ली की टीम साक्ष्य पेश कर रही थी। वह नियमित तौर पर विशेष कोर्ट के समक्ष उपस्थित हो रही थी। अब तक दस से अधिक गवाह व अन्य साक्ष्य पेश किए थे। पटना की टीम को जिम्मेदारी मिलते ही ऐसी स्थिति आई है।  

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021