मुजफ्फरपुर, जासं। शहर में सक्रिय बाइकर्स बदमाशों की पर नकेल कसने के लिए वुधवार की रात विभिन्न इलाकों में छापेमारी की गई। इस दौरान एक संदिग्ध को सिकंदरपुर इलाके से पुलिस ने उठाया है। विशेष टीम उससे पूछताछ कर सत्यापन की कार्रवाई में जुटी है। पुलिस का कहना है कि दो दिन पूर्व नगर इलाके में बाइकर्स बदमाशों द्वारा डेयरी कर्मी से एक लाख 47 हजार रुपये छीन लिए गए थे। इसके मद्देनजर सीसीटीवी फुटेज को खंगालकर अपराधियों की गिरफ्तारी को अभियान चलाया गया। इसी में उक्त संदिग्ध को हिरासत में लिया गया है। जांच में पता चला कि हाई स्पीड बाइक से उसे कई बार घूमते हुए देखा गया था। इसको लेकर उसकी संलिप्तता पर जांच चल रही है। बता दे कि दो दिन पहले ही नगर थाना क्षेत्र के घिरनी पोखर सुधाकर लेन में बाइकर्स बदमाशों द्वारा कैश लेकर बैंक जा रहे डेयरी कर्मी को निशाना बनाया गया था। रुपये से भरे बैग को बदमाशों ने छीन लिए थे। बैग में 1.47 लाख रुपये व मोबाइल था। सूचना के बाद नगर थाने की पुलिस मौके पर पहुंचकर जांच की थी। आसपास में लगे सीसीटीवी को पुलिस ने खंगाला था। मामले में मीनापुर राघोपुर निवासी कर्मी अमर कुमार ने प्राथमिकी दर्ज कराई है।

इसके दो दिन पूर्व नगर थाना के चतुर्भुज स्थान इलाके में बाइकर्स बदमाशों द्वारा रिक्शा सवार के बैग उड़ा लिए गए थे। शोरगुल पर उसका पीछा करते हुए वे दौड़े थे। मगर बाइक सवार बदमाश तेज गति से भाग निकले थे। स्थानीय लोगों से पूछा गया तो बदमाशों के नाम छोटू व अकरम बताया था। इन दोनों की गिरफ्तारी के लिए भी नगर पुलिस ने चतुर्भुज स्थान इलाके में छापेमारी की। मगर किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी। इसके पूर्व सदर, अहियापुर व मोतीपुर में बाइकर्स बदमाशों द्वारा कई घटनाओं को अंजाम दिया गया था। मगर अब तक गिरफ्तारी नहीं हो सकी। सदर में पारू इलाके की पूर्व मुखिया के बोलेरो से आठ लाख रुपये इसी तरह से बाइकर्स बदमाशों द्वारा उड़ा लिया गया था। अहियापुर व मोतीपुर में बाइकर्स बदमाश कई वारदातों को अंजाम दे चुके है।पुलिस का कहना है कि इन सभी घटनाओं के मद्देनजर बदमाशों की गिरफ्तारी को संयुक्त अभियान चलाया गया था। नगर डीएसपी रामनरेश पासवान ने बताया कि बाइकर्स बदमाशों की गिरफ्तारी को छापेमारी की गई थी। मगर आरोपित की गिरफ्तारी नहीं हो सकी।  

Edited By: Ajit Kumar