मुजफ्फरपुर, जागरण संवाददाता। बीआरए बिहार विश्वविद्यालय की ओर से स्नातक सत्र 2022-25 में नामांकन के लिए आज गुरुवार को आवेदन की अंतिम तिथि निर्धारित है। पोर्टल पर 29 जून तक करीब 1.40 लाख अभ्यर्थियों ने आवेदन किया। इनमें 45 हजार अभ्यर्थियों ने इतिहास में नामांकन का विकल्प चुना है। अध्यक्ष छात्र कल्याण डा. अभय कुमार सिंह ने बताया कि करीब दो महीने तक अभ्यर्थियों को आवेदन का विकल्प दिया गया है। अब पांच जुलाई को विश्वविद्यालय स्तर पर केंद्रीयकृत मेधा सूची जारी करने का प्रस्ताव कुलपति को दिया गया है। अनुमति मिलती है तो पांच जुलाई को पहली मेधा सूची जारी की जाएगी। इसके बाद एक सप्ताह से 10 दिन का समय नामांकन के लिए दिया जाएगा। सीबीएसई 12वीं का परिणाम अबतक जारी नहीं हुआ है। ऐसे में उन अभ्यर्थियों को भी रिजल्ट निकलने के बाद 10 दिनों का समय आवेदन के लिए मिलेगा। इसके लिए फिर से पोर्टल खोला जाएगा। 

प्रथम मेधा सूची में आवंटित कालेज में लेना होगा नामांकन

पहली मेधा सूची में अभ्यर्थियों को जो कालेज आवंटित किया जाएगा, उसमें नामांकन अनिवार्य रूप से लेना होगा। यदि अभ्यर्थी नामांकन नहीं ले पाते हैं तो उनका दावा समाप्त कर दूसरी सूची में वह सीट दूसरे अभ्यर्थी को आवंटित कर दी जाएगी। वहीं आवेदन के समय छूट पाने के लिए अभ्यर्थियों की ओर से जिस कोटि का विकल्प दिया गया होगा नामांकन के समय वह प्रमाणपत्र प्रस्तुत करना होगा।

1.55 लाख सीटें, पिछले सत्र में हुआ था 1.13 लाख नामांकन

विश्वविद्यालय में छह जिलों में अंगीभूत और संबद्ध डिग्री कालेजों को मिलाकर कुल 1.55 लाख सीटें आवंटित हैं। पिछले वर्ष 1.42 लाख से अधिक अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। इनमें 1.13 लाख विद्यार्थियों ने नामांकन कराया था। अधिकारियों ने बताया कि इस बार आवेदनों की संख्या डेढ़ लाख से अधिक होगी। जिन अभ्यर्थियों ने पहले ही आवेदन कर रखा है वे अब इस बात का इंतजार कर रहे हैं कि कब नामांकन की प्रक्रिया शुरू होगी।

Edited By: Ajit Kumar