मुजफ्फरपुर, जेएनएन। बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के स्नातक पार्ट टू का परीक्षाफल लंबित होने को लेकर विश्वविद्यालय प्रशासन गंभीर है। इस संबंध में तीन दिनों में रिजल्ट की गड़बडिय़ों के सुधार का कुलपति डॉ. आरके मंडल ने निर्देश दिए हैं। कुलपति के आदेश के आलोक में गुरुवार को अवकाश के दिन लंबित रिजल्ट के निष्पादन का काम हुआ।

लंबित रिजल्ट को लेकर परस्पर विरोधी दावे

स्नातक पार्ट टू के रिजल्ट के लंबित होने को लेकर परस्पर विरोधी दावे हैं। छात्र संगठनों का कहना है कि पांच हजार से अधिक लंबित रिजल्ट है। वहीं, विवि प्रशासन ने यह संख्या 3600 बताई है। गड़बड़ी का एक कारण पहली बार ऑनलाइन सिस्टम से काम शुरू होना भी रहा।

कॉलेजों से भी हुई गड़बड़ी 

स्नातक पार्ट टू के रिजल्ट में एक गड़बड़ी का कारण कॉलेजों से निर्धारित संख्या से अधिक छात्रों की परीक्षा कराई जानी रही है। बेतिया के एक कॉलेज से 3317 छात्रों का रजिस्ट्रेशन था। लेकिन, परीक्षा फॉर्म 3600 ने भरा और परीक्षा दी। इसके कारण कॉलेज के 300 छात्रों का रिजल्ट लंबित हो गया। कॉलेज के प्राचार्य भी कुलपति से मिले थे। लंबित रिजल्ट की समस्या बताई थी। ये स्थिति कई कॉलेजों की रही।

रिजल्ट में अनुपस्थित

दो दिनों से लंबित रिजल्ट को लेकर छात्र-छात्राएं कॉलेज से लेकर विश्वविद्यालय तक के चक्कर लगा रहे हैं। कॉलेजों में चक्कर लगाने की वजह निर्धारित संख्या से अधिक को कॉलेज द्वारा परीक्षा दिलाना है। ये सम्बद्ध कॉलेजों में न होकर सरकारी कॉलेजों में हुआ है। दूसरा अनुपस्थित की संख्या बड़े पैमाने पर रिजल्ट में प्रदर्शित हुआ है। तीसरा बड़ी संख्या में छात्र छात्राओं प्रैक्टिकल में फेल किया गया है। ऐसे छात्र भी बड़ी संख्या में आ रहे हैं।

कुलपति ने दिया आश्वासन

लंबित रिजल्ट को लेकर कुलपति से कई कॉलेजों के प्राचार्य मिले थे। इस संबंध में उन्होंने कहा कि लंबित रिजल्ट के निष्पादन में पूरी गंभीरता बरती जाएगी। तीन दिन में आवेदनों के आधार पर निष्पादन होगा।  

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस