मुजफ्फरपुर, जेएनएन। बीआरए बिहार विश्वविद्यालय में स्नातक कक्षा में प्रवेश परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड जारी कर दिया गया है। छात्रों का परीक्षा केंद्र एक जिले से दूसरे जिलों में भी किया गया है जिससे उनकी परेशानी बढ़ गई है। विश्वविद्यालय ने हालांकि यह घोषणा कर रखी है कि इस परीक्षा में किसी भी छात्र को फेल नहीं किया जाएगा। बावजूद, एक जिले से दूसरे जिले में उनका परीक्षा केंद्र रखना छात्रों के लिए समझ से परे है। विश्वविद्यालय छात्रसंघ के निर्वतमान अध्यक्ष बसंत कुमार सिद्धू ने प्रेस को जारी बयान में इसपर कड़ी आपत्ति जताई है। कहा है कि अगर कोई फेल नहीं करना है तो मोतिहारी का सेंटर सीतामढ़ी क्यों भेजा जा रहा है? अगर दूसरे जिलों में ही परीक्षा लेनी थी तो विश्वविद्यालय के मुख्यालय मुजफ्फरपुर में ही सेंटरलाइज्ड परीक्षा का आयोजन किया जाना चाहिए था। एंट्रेंस एग्जाम के नाम पर सभी छात्रों से 600 रुपये लिए गए। अब ऐसा प्रतीत होता है कि विश्वविद्यालय प्रशासन ने सिर्फ पैसा कमाने के लिए एंट्रेंस एग्जाम का रास्ता अख्तियार किया। ऐसे में जिस जिले के छात्र हैं उनकी परीक्षा स्थानीय स्तर पर ही ली जाए। अन्यथा विश्वविद्यालय के इस कदम का भी पुरजोर विरोध किया जाएगा।  

Posted By: Ajit Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप