मुजफ्फरपुर, जासं। बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के नए कुलानुशासक इतिहास विभागाध्यक्ष डॉ.अजीत कुमार बनाए गए हैं। शुक्रवार की देर शाम इसकी अधिसूचना विश्वविद्यालय की ओर से जारी की गई थी। शनिवार को उन्होंने कुलपति के आवासीय कार्यालय में योगदान दे दिया। निवर्तमान कुलानुशासक प्रो. राकेश कुमार को पद से हटाया गया है। साथ ही पीजी अर्थशास्त्र विभाग से उनकी प्रतिनियुक्ति समाप्त कर आरडीएस कॉलेज भेज दिया गया है। योगदान के बाद डॉ.अजीत कुमार ने बताया कि विश्वविद्यालय और इसके क्षेत्राधिकार में आने वाले संस्थानों में अनुशासन लागू करना पहली प्राथमिकता होगी। कहा कि पूरी निष्पक्षता के साथ नियमसम्मत पद के दायित्वों का निर्वहन करूंगा। कुलानुशासक बनने पर सोशल साइंस की डीन प्रो.अपर्णा कुमारी, डॉ.गौतम चंद्रा, डॉ.अर्चना पांडेय, डॉ.सतीश कुमार, सत्यप्रकाश राय आदि ने उन्हें बधाई दी है।

पोर्टल नहीं खुलने से नामांकन का डाटा अपडेट करने में परेशानी

स्नातक में ऑनस्पॉट नामांकन के लिए रविवार को अंतिम तिथि है। शनिवार को कई कॉलेजों में पोर्टल नहीं खुलने की शिकायत की गई। कॉलेज प्रशासन का कहना था कि नामांकन का आंकड़ा पोर्टल पर अपलोड करने का निर्देश है, लेकिन पोर्टल खुल नहीं रहा है। ऐसे में किस विषय में कितना नामांकन लिया गया है इसकी जानकारी नहीं भेजी जा सकी है। बता दें कि स्नातक में ऑनस्पॉट नामांकन को लेकर रविवार को अंतिम तिथि है। विवि की ओर से 14 से 17 जनवरी तक नामांकन के लिए समय दिया गया था। 14 जनवरी को मकर संक्रांति की छुट्टी थी और 17 को रविवार है। ऐसे में शनिवार की दोपहर तक कॉलेजों में नामांकन के लिए छात्रों की भीड़ जुटी हुई थी। इधर, कॉलेजों की ओर से तिथि बढ़ाने की मांग की गई है। प्राचार्यों ने कहा कि एक सप्ताह का और समय ऑनस्पॉट नामांकन के लिए मिलना चाहिए। डीएसडब्ल्यू प्रो.अभय कुमार सिंह ने कहा कि रविवार को नामांकन की स्थिति का जायजा लेने के बाद आगे तिथि बढ़ाने पर विचार किया जाएगा।  

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021