मुजफ्फरपुर, जेएनएन। बिहार विश्वविद्यालय से मास्टर डिग्री के छात्र-छात्राएं विश्वविद्यालय के तुगलकी फरमान से उलझन में पड़ गए हैं। उनका कहना है कि अभी थर्ड सेमेस्टर का रिजल्ट भी ठीक से हाथ में आया नहीं कि फोर्थ सेमेस्टर के लिए पिछले दरवाजे से फॉर्म भरने और परीक्षा लेने की घोषणा कर दी गई है। 15 दिसंबर से परीक्षा है, जबकि 4 दिसंबर को थर्ड सेमेस्टर का रिजल्ट ही आया है। रिजल्ट के अगले ही दिन यानी 5 दिसंबर से फॉर्म भराने की घोषणा कर दी गई, मगर उसकी नोटिस 6 दिसंबर को जारी हुई। इस सिलसिले में छात्र-छात्राओं ने कहा कि सोमवार को विश्वविद्यालय का घेराव करेंगी।

बढ़ाई जाए परीक्षा तिथि

उनकी मांग है कि परीक्षा की तिथि आगे बढ़ाई जाए और पढ़ाई के लिए कम से कम 20 दिनों का समय मिले। छात्रा राहिला अंजुम, रौशन, उज्ज्वल, किरण, उर्वशी, रूपम, श्वेता, नितेश, प्रवीण, अरविंद, सुरभि ने कहा कि पढ़ाई कॉलेज से लेकर यूनिवर्सिटी तक कंप्लीट हुई नहीं और परीक्षा सिर पर आ गई। बताइए कैसे परीक्षा कोई देगा। परीक्षा हो तो बीच-बीच में पांच दिनों का अंतराल जरूर रखा जाए, ताकि तैयारी का मौका मिले।  

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस