मुजफ्फरपुर, ऑनलाइन डेस्क। किसी ने कहा है, बिहार में बात-बात में राजनीति होती है। कोरोना की दूसरी लहर से बुरी तरह से कराह रहे सूबे में वर्तमान में चल रही राजनीति को देखने को बाद यह बात सही प्रतीत हो रही है। संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए राज्य सरकार ने लॉकडाउन की घोषणा की। अब इस पर राजनीति हो रही है। इसमें भी क्रेडिट लेने की होड़ मची है। आरोप-प्रत्यारोप और उससे भी बढ़कर एक-दूसरे की पोल खोल देने की चेतावनी। इसके बीच ही मुजफ्फरपुर के कुढ़नी से राजद के विधायक डॉ. अनिल कुमार सहनी ने सीएम नीतीश कुमार की सराहना कर दी है। सीएम को लिखे पत्र में पूर्ण लॉकडाउन लगाने पर उनकी सराहना की है। वर्तमान हालत को देखते हुए इसे उन्होंने जरूरी करार दिया। इसे साहस से भरा कदम बताया। यह बात सार्वजनिक होते ही जिले की राजनीति तेज हो गई। तरह-तरह की चर्चाएं शुरू हो गईं। बात इस हद तक पहुंच गई कि उनकी पृष्ठभूमि का हवाला दिया जाने लगा। कहा जा रहा है जहां विस में नेता प्रतिपक्ष लगातार सीएम की नीतियों की आलोचना कर रहे हैं वहीं उनकी पार्टी का एक विधायक सराहना कर रहा है।

यह भी पढ़ें : पश्चिम बंगाल चुनाव 2021 में दीदी की पार्टी ने मारी बाजी, मुजफ्फरपुर के नेताजी का बदला सुर

कुढऩी विधायक ने लॉकडाउन को सही बताया

दरअसल, कुढऩी विधायक डॉ. अनिल कुमार सहनी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखकर कोविड संक्रमण को रोकने के लिए सूबे में संपूर्ण लॉकडाउन लागू करने को सराहनीय कदम बताया। साथ ही सभी विधायकों के एक वर्ष के फंड को अपने विधानसभा क्षेत्र मेें संक्रमण की रोकथाम, बचाव, जागरूकता समेत अन्य कार्यों पर खर्च करने की मांग भी रखी है। हालांकि उन्होंने इस राशि को खर्च करते समय क्षेत्रीय विधायक की सहमति होने की बात कही। इसके साथ ही किए जा रहे खर्च की निगरानी में सहयोग करने की बात को भी दोहराया। अपने विधानसभा क्षेत्र में कोविड वैक्सीन व टेस्टिंग किट समेत अन्य सामान व्यापक रूप से नहीं मिलने पर नाराजगी भी प्रकट की। इसे अविलंब भरपूर मात्रा में उपलब्ध कराने की मांग की। पंचायतों के स्वास्थ्य केंद्रों पर शिविर लगाकर कोविड टीकाकरण कार्यक्रम चलाने की भी मांग की।

यह भी पढ़ें : Mother's Day 2021: ममता की छांव से दूर कर बेटे को दे रहीं सेवा की सीख, अनोखी है समस्तीपुर के एक मां की दास्तां

पत्र के सामने आने के बाद से राजनीति तेज हो गई

इस पत्र के सामने आने के बाद से राजनीति तेज हो गई है। कहा जा रहा है जहां विस में नेता प्रतिपक्ष लगातार सीएम की नीतियों की आलोचना कर रहे हैं वहीं उनकी पार्टी का एक विधायक सराहना कर रहा है। इसके पीछे माना जा रहा है कि वे चुनाव से पहले भी सीएम और जदयू से जुड़े रहे हैं। ऐसे में सराहना करना अस्वाभाविक नहीं है। अब देखने वाले बात होगी कि आने वाले दिनों में जिले की राजनीति पर इसका क्या प्रभाव पड़ता है? हालांकि अभी पार्टी के किसी भी पदाधिकारी ने इस पर आधिकारिक रूप से टिप्पणी नहीं की है। जबकि विधायक के समर्थक इसे स्वस्थ लोकतांत्रिक परंपरा बता रहे हैं।  

यह भी पढ़ें : Awesome Love: मरते दम तक नहीं छोड़ा साथ, पति के निधन के कुछ ही घंटों बाद पत्नी ने भी त्याग दिए प्राण

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप