मुजफ्फरपुर,जासं। यूं तो बोचहां विधानसभा उपचुनाव के लिए अभी तिथि घोषित नहीं की गई है, लेकिन इसको लेकर राजनीति दिन-ब-दिन तेज होती जा रही है। वीआइपी विधायक मुसाफिर पासवान के निधन के बाद खाली हुई इस सीट को लेकर जहां एनडीए के दो प्रमुख सहयोगी भाजपा और वीआइपी में विवाद चल रहा है वहीं जीतनराम मांझी की पार्टी हम ने एक नई चाल चल दी है। इसने राजनीति के जानकारों को चौंका दिया है। दरअसल, हम के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव डा. संतोष कुमार सुमन ने कहा है कि यह सीट वीआइपी को ही मिलना चाहिए। यह देखने वाली बात होगी कि भाजपा उनके इस बयान को किस रूप में लेती है। 

यह भी पढ़ें : आरआरबी एनटीपीसी परीक्षा को लेकर बड़ा अपडेट, मुजफ्फरपुर में जश्‍न

राज्य के लघु जल संसाधन एवं अनुसूचित जनजाति कल्याण मंत्री तथा हम के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव डा. संतोष कुमार सुमन ने कहा है कि एनडीए में खटास नहीं है। हम पूरी ताकत के साथ मुख्यमंत्री के साथ खड़े हैं। मुख्यमंत्री पांच साल का कार्यकाल पूरा करेंगे। उन्होंने ये बातें सोमवार को परिसदन में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहीं। बोचहां विधानसभा सीट उपचुनाव 2022 के बारे में पूछे जाने पर कहा कि उपचुनाव में यह सीट वीआइपी को ही मिलना चाहिए। हालांकि उन्होंने इसे वीआइपी एवं बीजेपी का अंदरूनी मामला बताया है। कहा, मैं इसपर ज्यादा नहीं बोल सकता। मुकेश सहनी को समर्थन देने वाली बात भाजपा को पचती है या नहीं, यह देखन होगा। वैसे यह कोई पहला मौका नहीं है। जीतनराम मांझी ने खुद अपने कुछ बयानों से भाजपा को पहले भी असहज किया है।

यह भी पढ़ें : भाई ने बहन को बनाया हवस का शिकार, मुजफ्फरपुर के बोचहां में हुई घटना

उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव हारे हुए खिलाड़ी हैं। वह मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं तो उन्हें सपना देखने से कौन रोक सकता है। उन्होंने कहा कि मार्च में मुजफ्फरपुर में एक बड़ी रैली होगी। इसके लिए पार्टी कार्यकर्ताओं से बात करने आए हैं। इससे पूर्व किशनगंज से लौटने के क्रम में स्थानीय सर्किट हाउस में पहुंचे थे जहां पार्टी के जिलाध्यक्ष शरीफुल हक के नेतृत्व में पार्टी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने भव्य स्वागत किया। इस अवसर पर पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता डा. दानिश रिजवान, प्रदेश महासचिव सह जिला प्रभारी संजर आलम, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के उत्तर बिहार अध्यक्ष मो. कमालुद्दीन, महानगर अध्यक्ष राहुल कुमार, वरीय प्रदेश उपाध्यक्ष रत्नेश पटेल, सकरा प्रखंड अध्यक्ष महेश पासवान, निशा तिवारी, डा. स्नेहलता पांडेय, लोकेश कुमार आदि मौजूद रहे।  

Edited By: Ajit Kumar