मुजफ्फरपुर, [अमरेंद्र तिवारी]। उत्तर प्रदेश में चुनावी तापमान तेजी से बढ़ रहा है। यह स्वाभाविक है, किंतु इसका प्रभाव पड़ोसी राज्य बिहार में अभी से ही दिखने लगा है। विशेषकर सत्ताधारी एनडीए के अंदर। सीएम नीतीश कुमार के मंत्री मुकेश सहनी के यूपी चुनाव में उतरने की घोषणा के बाद से ही यह उलट-पुलट शुरू हुआ है। अब भाजपा की आेर से भी पलटवार शुरू हो गया है। उन्हें अनुकंपा का मंत्री कहा जा रहा है। भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष और मुजफ्फरपुर से सांसद अजय निषाद ने मुकेश सहनी की पार्टी के चुनाव मैदान में उतरने की स्थिति में गठबंधन को लेकर विचार करने का आग्रह शीर्ष नेतृत्व से किया है। 

यह भी पढ़ें: BIHAR POLITICS: उपचुनाव में मुकेश सहनी की सीट पर भाजपाइयों की दावेदारी, सुगबुगाहट तेज

भाजपा की अनुकंपा से मंत्री

भाजपा सांसद ने मुकेश सहनी पर तंज करते हुए कहा कि वे अनुकंपा वाले नेता हैं। उन्होंने खुद को निषाद समाज के नेता के रूप में स्थापति करने की कोशिश की है। जगह-जगह जाकर अपने को सन आफ मल्लाह कहते हैं, लेकिन सच्चाई यह है कि सहनी ने इस समाज को भ्रमित किया है। उसे अंधेरे में रखने का काम किया है। यह भारतीय जनता पार्टी ही है जिसकी अनुकंपा से वे मंत्री बनकर घूम रहे हैं। राजनीति के इतिहास में बहुत कम ऐसे मौके देखने को मिलते हैं जब कोई नेता खुद कोई चुनाव नहीं जीता और मंत्री बन गया हो।

भाजपा नेतृत्व मुकेश सहनी पर करे विचार

उत्तर प्रदेश में मुकेश सहनी की पार्टी वीआइपी की चुनाव लड़ने की महत्वाकांक्षा के बारे में अजय निषाद ने कहा कि यदि ऐसा कुछ भी है तो भाजपा के शीर्ष नेतृत्व को इस पर विचार करना चाहिए। क्योंकि वे वहां सीधे भाजपा की सरकार को चुनौती देने की बात कर रहे हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ से मुकाबला की तैयारी कर रहे हैं। मैं भी आगे इस पर बातचीत करूंगा।

योगी आदित्यनाथ की फिर से बनेगी सरकार

उत्तर प्रदेश चुनाव को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में भाजपा सांसद ने कहा कि वहां पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक बार फिर भारी बहुमत से सरकार बनाएंगे। उन्होंने जिस तरह से कानून व्यवस्था की हालत को दुरुस्त किया है, उसकी सभी प्रशंसा कर रहे हैं। जनकल्याण के भी बहुत से काम उन्होंने किए हैं। इस हालत में मुकेश सहनी के दुस्साहस का परिणाम बेहतर नहीं आने वाला है। पूरा निषाद समाज भारतीय जनता पार्टी के साथ है। भाजपा ने इस समाज को जो सम्मान दिया है वह किसी भी पार्टी ने नहीं दिया है।

Edited By: Ajit Kumar