मुजफ्फरपुर, जेएनएन। मुजफ्फरपुर में अपराधियों का तांडव लगातार बढ़ता जा रहा है। पुलिस चाह कर भी इस पर लगाम नहीं लगा पा रही है। बदमाश इतने बेखौफ हो गए है कि पुलिस पर भी हमला करने से नहीं चूकते। ऐसी ही घटना गुरूवार को हुई। सरैया में शराब धंधेबाज को पकड़ने गई पुलिस की टीम पर धंधेबाजों ने हमला कर दिया। वहीं अहियापुर के द्रोणपुर में फायरिंग हुई और पुलिस पर  पथराव किया गया। 

शराब धंधेबाजों ने किया हमला

जानकारी के अनुसान सरैया थाना क्षेत्र के अम्बारा चौक पर गुरुवार की रात्रि रेवा राठौर टोला निवासी शराब के धंधेबाज रंजीत सिंह को सरैया पुलिस ने हिरासत में ले लिया। इस क्रम में धंधेबाज व उसके लोगों ने दो पुलिस कर्मियों को शराब की बोतल से जख्मी कर दिया। पुलिस ने दोनों का सीएचसी में प्राथमिक उपचार कराया। पुलिस द्वारा धंधेबाज के घर सहित अन्य ठिकानों पर छापेमारी की गई है। गुरुवार की रात्रि सरैया पुलिस के बीएमपी जवान नवलेश कुमार व प्राइवेट कर्मी सुभाष कुमार अम्बारा चौक पर एक गुमटीनुमा दुकान पर शराब बिक्री की सूचना को लेकर शराब खरीदने ग्राहक के रूप में गए।

 वहां शराब मिलते ही धंधेबाज को हिरासत में लेना चाहा। इस क्रम में धंधेबाज रंजीत सिंह व उसके एक दर्जन सहयोगियों ने नवलेश व सुभाष की जमकर पिटाई कर दी। वहीं शराब की बोतल से नवलेश का सिर फट गया व हाथ भी जख्मी हो गया। सुभाष का हाथ गंभीर रूप से जख्मी हो गया है। मौके पर पहुंची पुलिस को देख सभी भागने लगे, लेकिन दोनों कर्मियों ने रंजीत को हिरासत में ले लिया। घटना को लेकर अम्बारा चौक पर अफरातफरी का माहौल बन गया है। थानाध्यक्ष अजय कुमार पासवान ने बताया कि धंधेबाज रंजीत से पूछताछ की जा रही है। वहीं अन्य लोगों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी है।

द्रोणपुर में फायरिंग, पुलिस पर पथराव, ग्रामीणों ने दो को दबोचा

अहियापुर थानाक्षेत्र के द्रोणपुर में गुरुवार की रात फायरिंग किए जाने की सूचना है। फायरिंग करने व तमंचा लहराने के इस मामले में स्थानीय लोगों ने हिम्मत दिखाते हुए दो लोगों को बाइक समेत धर दबोचा। हालांकि, एक अन्य भाग निकलने में सफल रहा। घटना की सूचना के बाद भी देर से पहुंची पुलिस को लोगों के आक्रोश का सामना करना पड़ा। लोगों ने पथराव कर दिया। पत्थरबाजी में कई लोग चोटिल हुए हैैं। हालांकि, पुलिस ने इससे इन्कार किया। घंटे भर बाद  पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित किया। 

 बताया गया है कि ग्रामीण नवल किशोर ठाकुर के दरवाजे पर बिना नंबर की पल्सर बाइक पर सवार तीन युवक देर शाम पहुंचा। दरवाजे पर नवल परिवार के सदस्यों के साथ अलाव ताप रहे थे। इसी बीच बाइक सवार रंजीत कुमार पहुंचा। पिस्टल निकालते हुए नवल की हत्या करने की कोशिश की। तमंचा निकालने के साथ ही दरवाजे पर हंगामा मच गया। शोर की आवाज पर जमा लोगों ने बाइक पर सवार मोहम्मद इरफान एवं एक अन्य युवक को धर दबोचा। जबकि नेउरी निवासी रंजीत भागने में सफल रहा। इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी गई।

 पुलिस के तत्काल नहीं पहुंचने व मामले को गंभीरता से नहीं लेने पर इसकी सूचना डीएसपी को दी गई। डीएसपी के निर्देश पर आनन-फानन में अहियापुर थानाध्यक्ष विकास कुमार राय एवं मीनापुर थानाध्यक्ष राजकुमार पुलिस दल के साथ मौके पर पहुंचे। देर से आने के कारण पुलिस को लोगों का आक्रोश झेलना पड़ा। बताया गया है कि रंजीत कुमार पर पिछले साल हुई अंकज ठाकुर की भी हत्या का आरोप है। थानाध्यक्ष ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। 

नगर पुलिस उपाधीक्षक रामनरेश पासवान ने बताया कि स्थिति नियंत्रण में है। पुलिस पर हमला नहीं हुआ है। नहीं कोई पुलिसकर्मी जख्मी है। 

Posted By: Murari Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस