मुजफ्फरपुर, जासं। जिले के औराई प्रखंड अंतर्गत सरहंचिया पंचायत के हंसवारा रामजानकी मंदिर के मुख्य द्वार का ताला तोड़कर चोरी की गई माता सीता की अष्ठधातू की कीमती मूर्ति मधुवन स्थित हल्दी के खेत से बरामद कर लिया गया है। जानकारी मिलने के बाद देखने के लिए स्थानीय लोगों की भीड़ जुट गई । बता दें कि मंगलवार की देर रात शातिर चोरों द्वारा मंदिर को निशाना बनाते हुए कीमती अष्ठधातु की मूर्ति की चोरी कर ली गई थी। बुधवार की सुबह घटना की जानकारी मिलने के बाद स्थानीय लोगों की भीड़ जुटी थी। सूचना पर स्थानीय थाने की पुलिस मामले की जांच में जुटी थी । इसी क्रम में दो संदिग्धों को हिरासत में लिया गया। कहा जा रहा कि पुलिस दबिश को देख चोरों द्वारा मूर्ति को हल्दी के खेत में फेंक दिया गया। इसके बाद पुलिस ने मधुबन स्थित हल्दी के खेत से मूर्ति को बरामद कर लिया गया। बताते चलें कि चोरी के बाद लक्ष्मण जी की मूर्ति को मंदिर के पीछे फेंक दिया गया था । बताया जा रहा कि 150 साल पूर्व मंदिर की स्थापना हुई थी । अष्टधातु की मूर्ति का वजन लगभग दस किलोग्राम बताया जा रहा है ।

गौरतलब है कि पूर्व में भी जिले के सकरा, मीनापुर, मोतीपुर व मनियारी इलाके से अष्ठधातू कीमती मूर्ति की मंदिर से चोरी की जा चुकी है। इन मूर्ति चोरों का अंतर्राष्ट्रीय चोर गिरोह से तार जुड़े है। पुराने अष्ठधातू की कीमती मूर्ति की चोरी करने के बाद नेपाल के तस्करों से बेच देते है। हाल ही में मूर्ति चोर गिरोह के चार चोरों को बेतिया पुलिस की सूचना पर करजा व कांटी इलाके से पकड़ा गया था। मगर इन सभी के विरुद्ध सजा दिलाने की दिशा में कार्रवाई धीमी है। हालांकि एसएसपी जयंत कांत ने बताया कि सभी के विरुद्ध तेज गति से कार्रवाई चल रही है। 

Edited By: Ajit Kumar