मधुबनी, जासं। पंचायत आम चुनाव के सभी चरणों का चुनाव जिले में संपन्न हो गया है। कुल दस चरणों में जिले के कुल 21 प्रखंडों में चुनाव संपन्न करा लिया गया है। इन प्रखंडों का चुनाव परिणाम भी घोषित किया जा चुका है। रहिका, पंडौल, खुटौना, फुलपरास, राजनगर, खजौली, लदनियां, कलुआही, बासोपट्टी, बाबूबरही, अंधराठाढ़ी, मधवापुर, हरलाखी, बेनीपट्‌टी, लौकही, मधेपुर, घोघरडीहा, बिस्फी, जयनगर, झंझारपुर एवं लखनौर प्रखंड में नवनिर्वाचित प्रतिनिधियों को प्रमाण पत्र भी मिल चुके हैं।

अब इन सभी 21 प्रखंडों में प्रमुख व उप प्रमुख पद के लिए बिसात बिछने लगी है। शह-मात का खेल शुरू हो गया है। नवनिर्वाचित पंचायत समिति सदस्यों को प्रमुख व उप प्रमुख के दावेदारों द्वारा अपने-अपने पक्ष में गोलबंद करने के लिए जोड़-तोड़ का खेल भी शुरू हो गया है। इन 15 प्रखंडों में से कई प्रखंडों में प्रमुख व उप प्रमुख पद के दावेदार खुल कर सामने आ चुके हैं, वहीं कई प्रखंडों में पर्दे के पीछे से खेल चल रहा है। हालांकि, अभी राज्य निर्वाचन आयोग के द्वारा प्रमुख एवं उप प्रमुख के चुनाव के लिए तिथि निर्धारित नहीं की गई है।

इतना ही नहीं, जिले के सभी 21 प्रखंडों में पंचायत चुनाव संपन्न कराकर मतगणना परिणाम घोषित होने के बाद इन प्रखंडों के ग्राम पंचायतों के उप-मुखिया एवं ग्राम कचहरियों के उप-सरपंच बनने के लिए भी दावेदार प्रयास में जुट गए है। उप-मुखिया पद के दावेदार वार्ड सदस्यों को तो उप-सरपंच पद के दावेदार पंचों को अपने-अपने पक्ष में गोलबंदी करने का प्रयास कर रहे हैं। 

शहर की समस्याओं को दूर करने के लिए डीएम से मिले नगर विधायक

मुजफ्फरपुर : नगर विधायक विजेंद्र चौधरी शुक्रवार को जिलाधिकारी प्रणव कुमार से मिले और शहर की समस्याओं को दूर करने की मांग की। नगर विधायक ने अखाड़ाघाट पुल के समानांतर पुल बनाने की मांग की। लकढ़ीढाही में बने रहे पुल को शीघ्र पूरा कराने की मांग की। उन्होंने मिठनपुरा चौक से बेला चौक तक सड़क एवं नाला का निर्माण कराने का अनुरोध किया। विधायक ने जिलाधिकारी से अस्पताल रोड से सरकारी जमीन पर सालों से बसे दुकानदारों को नहीं हटाने की भी मांग की। उन्होंने शहर को जलजमाव की समस्या नहीं झेलनी पड़े, इसके लिए मुशहरी में बनने वाले एसटीपी के निर्माण के लिए जमीन उपलब्ध कराने का अनुरोध किया। जिलाधिकारी से मिलने के बाद विधायक ने कहा कि शह का तेजी से कैसे विकास हो, इसके लिए वह लगे हुए हंै। जो काम सालों से लंबित है वह पूरा हो इसके लिए वे संबंधित विभाग के अधिकारियों से बातचीत कर रहे हैं।

Edited By: Ajit Kumar