दरभंगा, जेएनएन। वे महत्वाकांक्षी थे। Larger than life status उनका सपना था। इन्हीं सपनों में एक था बेटी की धूमधाम से शादी करना। ऐसा आयोजन कि याद रह जाए। इसके लिए कड़ी मेहनत करते थे। एक दवा कंपनी के लिए एरिया मैनेजर की जिम्मेदारी निभाने के साथ ही साथ जमीन का कारोबार भी करते थे। लक्ष्य एक ही था, परिवार के लिए अधिक से अधिक खुशियां हासिल करना। उनके लिए सुविधा की वस्तुएं उपलब्ध कराना।                        दरभंगा के लहेरियासराय थाना क्षेत्र स्थित मदारपुर मोहल्ला में रहने वाले राजेश कुमार सिंह उर्फ बब्बू सिंह ने हाल ही में अपनी बेटी के लिए नेपाल में रिश्ता तय किया था। धूमधाम से शादी की तैयारी चल रही थी। सबकुछ हंसी-खुशी के माहौल में चल रहा था। राजेश भी सामान्य ही दिख रहे थे। मगर, थे नहीं। उनके अंदर ही अंदर बहुत कुछ चल रहा था। ऐसा कि उन्हें आगे कोई रास्ता ही दिखाई नहीं दे रहा था और बुधवार को उन्होंने एक ऐसा कदम उठाया जिससे सभी हतप्रभ रह गए। उन्होंने लाइसेंसी रिवाल्वर से खुद को गोली मार ली। इसकी आवाज सुनकर घर और आसपास के लोग दौड़े लेकिन, तब तक वे दम तोड़ चुके थे।

          राजेश कुमार सिंह उर्फ बब्बू सिंह समस्तीपुर जिला अंतर्गत पूसा थाना क्षेत्र के महमदा निवासी भुवेनेश्वर प्रसाद सिंह के पुत्र थे। वे लंबे समय से मदारपुर मोहल्ला में घर बनाकर रह रहे थे। बताया जाता है कि बब्बू एरिया मैनेजर के अलावा जमीन का कारोबार भी करते थे। लोगों का कहना है कि वह पारिवारिक परेशानी के कारण विगत छह माह से परेशान चल रहे थे। कारोबार के कारण कर्ज में डूबे गए थे। ऐसा कि उससे निकल पाना संभव नहीं हो पा रहा था। घटना की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल से एक रिवाल्वर बरामद किया है। यह लाइसेंसी बताया जा रहा है। बब्बू ने अपनी कनपट्टी में सटाकर गोली मारी थी।

थानाध्यक्ष एचएन सिंह ने बताया की शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। मामले की जांच की जा रही है। इधर, घटना के बाद पत्नी स्वेता शर्मा और पुत्री डॉ. श्रिया का रो-रोकर बुरा हाल है। 

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस