मुजफ्फरपुर। बोचहां थाना क्षेत्र के रोसी गांव में शराब के धंधेबाज की गिरफ्तारी को छापेमारी करने गई पुलिस ग्रामीणों के विरोध पर पीछे हट गई। पुलिस टीम पर हमला भी हुआ था। इससे आक्रोशित पुलिस कर्मियों ने घरों में घुसकर बच्चों समेत ग्रामीणों की पिटाई कर दी। इससे जख्मी लोग शनिवार से एसकेएमसीएच में इलाजरत हैं, लेकिन सूचना के बाद भी अहियापुर पुलिस उनका बयान तक दर्ज नहीं कर रही। इससे पीड़ितों में दहशत व्याप्त है। इस संबंध में जख्मी राजा राय, पूजा कुमारी, उषा देवी आदि ने बताया कि शुक्रवार की देर रात पुलिस उनके घरों में उस समय घुस गई जब सभी लोग सोए थे। दरवाजा खुलवाकर लोगों की पिटाई शुरू कर दी। भागकर जान बचाने के बाद पुलिस टीम वापस हो गई। जख्मी राजा राय ने बताया कि शनिवार को बोचहा पीएचसी में इलाज कराया। फिर बेहतर चिकित्सा के लिए शनिवार को एसकेएमसीएच में भर्ती हुए। चौकी प्रभारी सुमनजी झा ने इसकी जानकारी होने के बाद भी हमलोगों का बयान दर्ज नहीं किया। बता दें कि रोसी गाव में शराब धंधेबाज की गिरफ्तारी को गई पुलिस को ग्रामीणों ने सहयोग नहीं किया। के लिए छापेमारी करने पहुंची थी। इस दौरान ग्रामीणों से माफियाओं के नाम और घर पूछें। लेकिन, ग्रामीणों ने जानकारी देने से इंकार कर दिया। तब पुलिस ने दो लोगों को हिरासत में ले लिया था। तब ग्रामीणों ने पुलिस बल पर हमला कर आधा दर्जन पुलिकर्मियों को जख्मी कर दिया। उनकी रायफल और पिस्टल भी छीनने का प्रयास किया था। इस संबंध में सिटी एसपी नीरज कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस पर हमले के दौरान ग्रामीणों को भी चोट लगी होगी। शिकायत मिलने पर जांचोपरांत कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस