मुजफ्फरपुर/मोतीपुर, जाटी। मोतीपुर प्रखंड के महना गांव में विनोद साह की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई। जानकारी के अनुसार विनोद के संक्रमित होने के बाद पड़ोसियों और अपनों ने हाथ खींच लिया। न समय पर दवा मिली और न ऑक्सीजन। यहां तक कि निधन के बाद कोई दाह संस्कार के लिए भी तैयार नहीं था। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद और बजरंग दल के कार्यकर्ता पीपीई किट पहनकर न सिर्फ शव को निजी वाहन से ले गए बल्कि उनका दाह संस्कार भी किया। अभाविप के जिला संगठन मंत्री पुरुषोत्तम ने बताया कि विनोद साह कोलकाता में प्राइवेट सेक्टर में थे। यहां घर पर ही कोरोना संक्रमित हो गए तो पड़ोसियों ने दूरी बना ली। खाना और दवा के लिए भी परेशानी होने लगी तो उन्होंने अभाविप की ओर से जारी हेल्पलाइन पर संपर्क किया। अभाविप कार्यकर्ताओं ने दवा मुहैया कराई। सोमवार की रात तबीयत अधिक खराब होने पर ऑक्सीजन सिलेंडर भी उपलब्ध कराया गया, लेकिन उनकी मौत हो गई। बताया कि विनोद की पत्नी नीतू असहाय थी पर कोई देखने वाला नहीं था। उसके बड़े बेटे को भी कोरोना का संक्रमण हो गया है। कार्यकर्ताओं की ओर से ही उसके इलाज की व्यवस्था की जा रही है। इस कार्य में प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य गुड्डू यादव, मोतीपुर नगर के नगर मंत्री चंदन यादव, सर्वेश पांडेय, जीते ठाकुर व बजरंग दल से ङ्क्षप्रस, प्रियांशु, आदित्य कुमार ङ्क्षसह, पंकज कुमार, ब्रिज भूषण कुमार व राहुल कुमार शामिल रहे।

मुशहरी प्रखंड क्षेत्र के मुखिया की पत्नी की कोरोना से मौत

मुशहरी (मुजफ्फरपुर), संस : प्रखंड क्षेत्र के एक मुखिया की पत्नी की कोरोना से मौत हो गई। पांच दिन पूर्व कोरोना पॉजिटिव होने व आक्सीजन लेवल घटने पर उन्हेंं शहर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनकी सास व दामाद भी कोरोना पॉजिटिव होकर इलाजरत हैं। उधर, नरौली के प्रखंड शिक्षक की कोरोना से एसकेएमसीएच में मौत हो गई। सांस लेने में परेशानी होने पर सोमवार को उन्हेंं एसकेएमसीएच में भर्ती कराया गया था। वे पूर्व सरपंच के पुत्र थे। इधर, मंगलवार को सांस लेने में परेशानी और आक्सीजन लेवल कम होने पर रोहुआ में 55 वर्षीय महिला और 30 वर्षीय युवक की देर शाम मौत हो गई। महिला कई दिनों से बीमार होकर घर पर इलाज करवा रही थी। जबकि युवक का आक्सीजन लेवल काफी कम हो जाने के कारण स्वजन सदर अस्पताल भर्ती कराने ले जा रहे थे लेकिन रास्ते में ही मौत हो गई।