मुजफ्फरपुर, जेएनएन। मीनापुर थाना क्षेत्र के पुरैनिया स्थित लीची बगान में पेड़ से युवक का शव लटकते देख वहां सनसनी फैल गई। सुबह जब लोगों ने शव को लटकते देखा तो उसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना पर पहुंचे ग्रामीणों ने उसकी शिनाख्त रघुनाथ सहनी के 23 वर्षीय पुत्र नरेश सहनी के रूप में की। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेज दिया।

मुजफ्फरपुर- शिवहर मुख्य मार्ग को जाम किया

इधर, घटना से आक्रोशित लोगों ने मीनापुर चौक पर मुजफ्फरपुर- शिवहर मुख्य मार्ग को जाम कर दिया। थानाध्यक्ष ने लोगों को समझाकर और इसमें संलिप्त दोषियों को तुरंत गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया जिसके बाद लोगों ने सड़क जाम हटा लिया। वहीं, बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने थाने पर पहुंच हत्या की आशंका जताते हुए हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग की।

तीन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ

सूत्रों की मानें तो मृतक स्मैक और नशीले पदार्थों के धंधे और सेवन करने वालों के संपर्क में था। ऐसी शंका व्यक्त की जा है कि इसके संपर्क के लोगों ने ही उसकी हत्या कर शव को लीची के पेड़ से लटका दिया है। पुलिस इस संबंध में तीन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। इधर, थानाध्यक्ष राजकुमार ने बताया कि अभी प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई है। सभी बिंदुओं पर जांच की जा रही है।

दो महीने में पांचवीं घटना

लीची के पेड़ से लटकते शव को मिलना मीनापुर में पांचवीं घटना है, लेकिन इसमें से एक भी घटना का भंडाफोड़ नहीं कर सकी है। यह बड़ी ही आश्चर्य की बात है कि पांचों घटना लीची बगान में ही घटी और सबों के शव भी लीची के पेड़ से लटकते मिले। पहली घटना राघोपुर पंचायत के मूसाचक, दूसरी अलीनेउरा, तीसरी पैगंबरपुर पंचायत के कर्मवारी, चौथी दाऊद छपरा और पांचवीं घटना पुरैनिया में हुई है। एक भी घटना का पर्दाफाश नहीं कर सकने से पुलिस की कार्यशैली सवालों के घेरे में आ गई है।  

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस