मुजफ्फरपुर,[संजीव कुमार]। AES से बेटी खो चुके मुशहरी प्रखंड के बिंदा गांव निवासी शिवशंकर राम दो बच्चों की चिंता खा रही है। गर्मी आने से डरे हुए हैं। कारण गांव में स्वास्थ्य सुविधा की कमी है। न कोई दवा की दुकान और न ही कोई चिकित्सक। कुछ दूरी पर बने स्वास्थ्य उपकेंद्र में ताला लटका रहता है। जागरूकता और सफाई की कमी है।

शिवशंकर कहते हैं,बीते वर्ष छह साल की बेटी प्रियंका की एईएस से मौत हो गई थी। अब एक बेटा व बेटी की चिंता सता रही है। बेटी की मौत के बाद प्रशासन से चार लाख का चेक मिला। आवास योजना का लाभ व राशन कार्ड नहीं मिला।

जागरूकता का अभाव

बिंदा गांव में गरीबी तो है ही, शिक्षा और जागरूकता की भी कमी है। भूमिहीन होने के कारण शिवशंकर व पड़ोस के कई लोग सड़क किनारे सरकारी जमीन पर झोपड़ी बनाकर रहते हैं। आंगन में शिवशंकर की पत्नी चुनचुन देवी बर्तन साफ कर रही थीं। दोनों बच्चे जमीन पर खेल रहे थे। नल का जल योजना से आंगन में लगे नल से पानी नहीं टपक रहा था। दूसरे के दरवाजे से पानी लेकर आई थीं।

पेट में दर्द हुआ तो हो गए परेशान

इस बीच उनकी आठ वर्षीय बेटी प्रीति अपनी मां से कहती है, माई गे पेट में दर्द होईछई...। वह बर्तन छोड़ उसकी ओर दौड़ पड़ती हैं। जानकारी मिलते ही पति भी मजदूरी छोड़कर आए। पड़ोस में न कोई दवा की दुकान, न ही कोई डॉक्टर। कुछ दूरी पर एक स्वास्थ्य उपकेंद्र, नरौली डीह है, जहां बेटी को लेकर पहुंचे। लेकिन ताला लटका था। दैनिक जागरण की टीम भी वहां पहुंची। बोर्ड पर लिखे फोन नंबर पर संपर्क किया गया तो जवाब मिला कि मैनपॉवर की कमी है। इस कारण नहीं खुला है।

सीएम के दौरे पर चमक रहा था स्वास्थ्य उपकेंद्र

सतीश कुमार, नीतीश कुमार व परमेश्वर राम समेत कई ग्रामीणों ने बताया कि दिसंबर में मुख्यमंत्री का दौरा होने वाला था। इस कारण आनन-फानन में जर्जर पड़े स्वास्थ्य उपकेंद्र नरौली डीह को चमका दिया गया। अब ताला लटका रहता है। पूरे इलाके में बिजली का पोल लगा दिया गया। किसी कारण सीएम का कार्यक्रम स्थगित हो गया। इसके बाद सब काम जस का तस छोड़ दिया गया। नरौली पंचायत के मुखिया भोला राय कहते हैं कि शिवशंकर को सभी सरकारी सुविधाएं दी जा चुकी हैं। राशन कार्ड व आवास योजना का भी लाभ दिया जा चुका है।

मुशहरी प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक कुमार राम कृष्ण ने कहा कि वहां एक ही नर्स है। उसके जिम्मे ही स्वास्थ्य उपकेंद्र है। बुधवार व शुक्रवार को आंगनबाड़ी केंद्रों पर टीकाकरण में नर्स व्यस्त रहती है। सेंटर पर पेंट का काम हो गया है। जल्द ही सभी सुविधाएं दी जाएंगी।

 

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस