मुजफ्फरपुर, जेएनएन। मीनापुर प्रखंड के शीतलपट्टी में मंगलवार को तीन बच्चों की मौत मामले में प्रशासन ने स्पष्ट किया है कि बाढ़ के कारण इनकी डूबने से मौत नहीं हुई थी। पति से मोबाइल पर झगड़े के बाद महिला ने पहले चारों बच्चों को पानी में धक्का दे दिया। इसके बाद वह भी पानी में कूद गई। इसमें महिला व उसकी एक बेटी को बचा लिया गया। जबकि दो पुत्र व एक पुत्री की मौत हो गई। तीनों शवों को निकालकर उसका पोस्टमार्टम कराया गया। इसमें एक बच्चे की उम्र महज तीन माह थी।

 डीएम आलोक रंजन घोष व एसएसपी मनोज कुमार ने गुरुवार को प्रेसवार्ता में कहा कि मीनापुर प्रखंड के सिवाईपट्टी थाना क्षेत्र के शीतलपट्टी गांव में रीना देवी का पंजाब में रहने वाले पति शत्रुघ्न राम से मोबाइल पर झगड़ा हुआ। इसके बाद आवेश में आकर रीना चारों बच्चों को लेकर बागमती के किनारे लेकर चली आई। यहां एक-एक कर चारों बच्चों को नदी में धक्का दे दिया। इसके बाद खुद भी छलांग लगा दी। गोताखोरों की मदद से रीना व उसकी बेटी राधा को बचा लिया गया। मगर, ज्योति कुमारी (12), राजकुमार (छह) व अर्जुन उर्फ करण (तीन माह) की मौत हो गई। डीएम ने कहा कि बच्चों के बाढ़ के कारण डूबने की जो खबर आई वह सही नहीं थी।

महिला पर हत्या की प्राथमिकी दर्ज कर की जाएगी कार्रवाई

डीएम व एसएसपी ने कहा कि महिला पर हत्या की प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। उसका पति भी वापस आ गया है। मगर, अभी तक इनलोगों ने कोई बयान नहीं दिया है। डीएम ने यह भी स्पष्ट किया कि इन मौतों पर मुआवजा नहीं दिया जाएगा।

मगर, ये सवाल का जवाब भी है जरूरी

पति से झगड़े के बाद महिला के पानी में बच्चों को धक्का देने की बात सामने आने के बाद कई ऐसे सवाल भी हैं जिसका जवाब पुलिस व प्रशासन को ढूंढना होगा।

- एक साथ चार बच्चों को पानी में एक महिला ने कैसे फेंक दिया।

- क्या एक बच्चे को पानी में धक्का दिया गया तो दूसरा इसका इंतजार कर रहा था। जबकि चार में से एक बच्चा ही अबोध था।

- सवाल यह भी उठ रहा कि पांचों के डूबने को लेकर अगर वहां शोर मचाया गया तो क्या बच्चों को धक्का देते किसी व्यक्ति ने नहीं देखा।

- यह बात कहां से निकली कि महिला का पति से झगड़ा हुआ था। जबकि तीन की मौत हो चुकी थी। वहीं महिला की स्थिति गंभीर थी।

पुलिस ने महिला को लिया हिरासत में

मामला गरमाने के सिवाईपट्टी थाना पुलिस ने रीना देवी को गुरुवार को हिरासत में ले लिया है। उससे पूछताछ की जा रही है। डीएसपी पूर्वी गौरव पांडेय ने हिरासत में लिए जाने की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि महिला का बयान दर्ज किए जाने के बाद आगे की कानूनी कार्रवाई की जाएगी। 

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ajit Kumar