मुजफ्फरपुर। सदर थाना से होमगार्ड जवान को चकमा देकर हथकड़ी समेत फरार किशोरी के अपहर्ता सन्नी का सुराग पुलिस तीसरे दिन भी नहीं पा सकी। साहेबगंज विशुनपुर पट्टी उसके घर पर पुलिस ने छापेमारी की तो पता लगा कि आरोपित का पिता अभी जेल में बंद है। उसे कुछ दिन पूर्व इसी किशोरी के अपहरण के मामले में गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। वहीं घर पर उसकी मां भी नहीं है। पति के जेल जाने और पुत्र के फरार होने के बाद महिला का भी सुराग नहीं मिल रहा है। गांव के लोगों से पूछताछ करने के बाद सदर पुलिस लौट गई। आरोपित के बारे में पता लगाने के लिए उसके एक करीबी रिश्तेदार को हिरासत में लिया गया है। हालांकि, सन्नी के भागने के बारे में वह कोई विशेष जानकारी नहीं दे पाया है। पुलिस को आशंका थी कि थाना से भागने के बाद वह अपने रिश्तेदारों या दोस्तों के घर गया होगा। इन सभी जगहों पर ताबड़तोड़ छापेमारी हुई। पर उसके बारे में पता नहीं लगा। आरोपित अपने जिस रिश्तेदार के सबसे अधिक करीबी समझा जाता था, उसे हिरासत में लिया गया है।

यह है मामला : गत वर्ष 10 दिसंबर को सदर क्षेत्र से एक किशोरी लापता हुई थी। उसके स्वजन ने सदर थाना में सन्नी व उसके पिता समेत तीन को आरोपित बनाते हुए अपहरण की प्राथमिकी दर्ज कराई थी। इसी मामले में सन्नी के पिता को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। इस बीच मोतीपुर स्थित मोहमदपुर रेलवे गुमटी के समीप से गुरुवार को सन्नी को गिरफ्तार किया गया। लेकिन, शुक्रवार की सुबह वह शौच से लौटने के बाद होमगार्ड जवान नंदकिशोर राय को चकमा देकर हथकड़ी समेत फरार हो गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस