पश्चिम चंपारण, जेएनएन। बिहार-यूपी बॉर्डर पर स्थित भितहा प्रखंड के डीही पकड़ी गांव में चमकी बुखार से एक बच्ची की मौत से क्षेत्र के लोग भयभीत हैं। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. शाहरिची प्रसाद ने बताया कि गांव में चिकित्सकों की टीम भेजी गई है। इसकी जांच पड़ताल की जा रही है। बताया गया कि डीही पकड़ी गांव निवासी रामाकांत गोड़ की ढाई वर्षीय पुत्री अंशिका कुमारी की मौत चमकी बुखार से रविवार को यूपी के गोरखनाथ अस्पताल में हो गई।

 बच्ची के पिता रमाकांत गोड़ के अनुसार गोरखनाथ अस्पताल के चिकित्सकों ने बताया कि बच्ची की मौत चमकी बुखार से हुई है। वह पिछले एक सप्ताह से बुखार से पीडि़त थी। एक सप्ताह पहले बच्ची को यूपी के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दुदही में भर्ती कराया गया था। चिकित्सकों ने बच्ची में चमकी बुखार के लक्षण देख तुरंत जिला अस्पताल रविन्द्र नगर रेफर कर दिया। वहां दो दिनों के इलाज के बाद बच्ची को गोरखपुर मेडिकल कालेज रेफर किया गया। लेकिन परिजन बेहतर इलाज के लिए उसे गोरखनाथ अस्पताल ले गए। वहां इलाज के क्रम में उसकी मौत हो गई। चमकी बुखार से बच्ची की मौत की सूचना पर गांव के लोग काफी भयभीत हैं। अपने बच्चों को नाते रिश्तेदारों के यहां भेज रहे हैं। सोमवार की सुबह प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भितहा के चिकित्सकों की टीम गांव में पहुंची। बच्ची के परिजनों से जानकारी ली। 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ajit Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप