मुजफ्फरपुर : साहेबगंज थाना क्षेत्र के बसतपुर चैनपुर में रविवार की शाम पुलिस पर हमला मामले में रविवार को गिरफ्तार तीन लोगों को पुलिस ने पूछताछ के बाद सोमवार को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। थानाध्यक्ष अनूप कुमार ने बताया कि उक्त मामले में पवन कुमार, मो.हसरत, मुनाज आलम समेत 20 नामजद तथा 50-60 अज्ञात लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। गिरफ्तार पवन कुमार, मो.हसरत तथा मुनाज आलम को पुलिस ने जेल भेज दिया। बताया गया कि 4 जून को बसतपुर चैनपुर में दो पक्षों में जमकर मारपीट हुई थी। इसमें 60 वर्षीय शिवनाथ भगत गंभीर रूप से घायल हो गए थे। पीएचसी से प्राथमिक उपचार के बाद चिकित्सक ने एसकेएमसीएच रेफर कर दिया था। इस मामले में थाने में पांच लोगों पर नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई थी। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दो नामजद अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इसी बीच 18 जून 2021 को पटना में इलाज के दौरान शिवनाथ भगत की मौत हो गई। पोस्टमार्टम के बाद 19 जून को शव गाव पहुंचते ही लोग अभियुक्त के दरवाजे पर शव रखकर हंगामा करने लगे और आरोपित के दरवाजे के सामने मृतक का दाह संस्कार करने की तैयारी करने लगे। पुलिस के समझाने पर लोग नहीं माने और पुलिस दल को बंधक बनाते हुए पुलिस वाहन को घेर लिया। फिर सूचना पर पहुंची अन्य थानों की पुलिस ने लोगों को समझाने की कोशिश की, लेकिन लोग मृतक के स्वजनों को पांच लाख रुपये देने, उनके एक बेटे को नौकरी देने तथा हत्यारोपितों की गिरफ्तारी की माग करते हुए पुलिस जीप समेत पुलिस कíमयों को घटों घेर लिया। इसी दौरान सूचना पर वरीय पुलिस अधिकारियों के साथ पहुंचे एसएसबी के जवानों ने लोगों पर लाठीचार्ज किया। लाठीचार्ज में मृतक के एक पुत्र रामभरोस भगत गंभीर रूप से घायल हो गए। वहीं कुछ अन्य लोग चोटिल हो गए। इससे आक्रोशित कुछ लोगों ने पुलिस पर पथराव करते हुए हमला कर दिया जिससे थानाध्यक्ष अनूप कुमार व जमादार नरेंद्र कुमार जख्मी हो गए। स्थिति अनियंत्रित देख पुलिस को आत्मरक्षा के लिए हवाई फायरिंग करनी पड़ी। इसके बाद पुलिस ने खदेड़ कर तीन लोगों को हिरासत में ले लिया था। पुलिस आरोपितों की गिरफ्तारी को छापेमारी कर रही है।

Edited By: Jagran