मुजफ्फरपुर : शनिवार को जिले में 248 कोरोना संक्रमित मरीज मिले। इसमे 17 स्वास्थ्य कर्मी, एक रेलकर्मी शामिल हैं। पूर्व मंत्री सुरेश शर्मा की शनिवार को जांच में रिपोर्ट निगेटिव आई। जिला प्रशासन की ओर से जारी आंकड़े के अनुसार शनिवार को 5,612 लोगों के नमूने की जांच की गई जिसमें 248 संक्रमित मिले। इसके साथ ही जिले में अब सक्रिय केस की संख्या 1,848 हो गई है। आंकड़े के अनुसार शनिवार को 258 लोग स्वस्थ भी हुए। पहली लहर से लेकर अबतक जिले में कुल 22 लाख 94 हजार 367 लोगों के नमूने की जांच की गई जिसमें 33598 लोग पाजिटिव पाए गए। जबकि 31027 लोग स्वस्थ हुए। विभाग के अनुसार शनिवार को सदर अस्पताल में 229 लोगों की कोरोना जांच में 72 लोग पाजिटिव पाए गए। इमलीचट्टी बस स्टैंड में 109 और जंक्शन पर 900 लोगों की आरटीपीसीआर जांच की गई जिसका सैंपल जांच के लिए एसकेएमसीएच के लेबोरेटरी में भेज दिया गया। इसकी रिपोर्ट सोमवार तक आएगी। सिविल सर्जन डा. विनय कुमार शर्मा ने बताया कि बीवी कालेजिएट स्थित परीक्षा समिति कार्यालय में बने डेडीकेटेड कोविड अस्पताल में तीन मरीज भर्ती हैं। वे भी स्वस्थ हैं। अभी जो स्थिति है उसमें संक्रमण फैल रहा है, लेकिन मरीज गंभीर रूप से बीमार नहीं हो रहे हैं।

छोटे बच्चे में कोरोना के लक्षण तो होगी जांच

कोरोना के लक्षण वाले बच्चे की जांच कराई जाएगी। इसके लिए सरकारी अस्पताल के साथ निजी अस्पताल संचालकों को पूरी निगरानी रखने की सलाह दी गई है। सिविल सर्जन डा. विनय कुमार शर्मा ने कहा कि अबतक इस जिले में एक भी बच्चा कोरोना पाजिटिव नहीं मिला है। इसके बाद भी सतर्कता बरती जा रही हैं। पाजिटिव मिलने पर बच्चों को एसकेएमसीएच में रेफर किया जाएगा। वहां विशेष वार्ड काम कर रहा है। इसके अलावा सदर अस्पताल में भी इलाज की सुविधा है। सीएस ने कहा कि दो दिन पहले एक संक्रमित बच्चा मिला जो मोतिहारी का बताया गया। बिना सूचना के वह एसकेएमसीएच से गायब हो गया है।

Edited By: Jagran