मुजफ्फरपुर : बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की ओर से इंटर की परीक्षा एक फरवरी से शुरू हो रही है। ऐसे में विद्यार्थियों के पास महज दो सप्ताह का ही समय रह गया है। कोरोना के कारण स्कूल-कालेज बंद हो गए हैं। ऐसे में विद्यार्थियों को परीक्षा की तैयारी में परेशानी नहीं हो इसके लिए दैनिक जागरण की ओर से विशेषज्ञों की सलाह अभियान विद्यार्थियों के लिए शुरू किया गया है। इसमें विभिन्न विषयों के विशेषज्ञ विद्यार्थियों को विषय वस्तु की जानकारी, समय निर्धारण, लेखन शैली के साथ ही तनाव मुक्त होकर परीक्षा की तैयारी के टिप्स दिए जाएंगे। इंटर के विद्यार्थियों को टिप्स दे रहे हैं मुखर्जी सेमिनरी प्लस टू स्कूल के रसायनशास्त्र के शिक्षक डा.अविनाश पाटिल। उन्होंने बताया कि आर्गेनिक केमेस्ट्री में हेलो ऐल्केन, एल्कोहाल, एल्डीहाइड और कार्बोजिलिक एसीड महत्वपूर्ण पाठ हैं। इनआर्गेनिक केमेस्ट्री में डी ब्लाक एलीमेंटस के भौतिक गुणों का विशेष अध्ययन करें। फिजिकल केमेस्ट्री में एनसीईआरटी के पाठ्य पुस्तक से न्यूमेरिकल प्रश्नों का अभ्यास करें। बेहतर अंक के लिए सरल भाषा में बिदुवार लिखें उत्तर :

डा.अविनाश ने बताया कि रसायनशास्त्र में विद्यार्थी बेहतर अंक प्राप्त करने के लिए सरल भाषा और अपने शब्दों में उत्तर दें। प्रश्नों को बिदुवार हल करें। इससे परीक्षक उत्तर से प्रभावित होंगे। न्यूमेरिकल हल करते समय फार्मूला का विशेष रूप से ख्याल रखें। परीक्षा के दिनों में तनाव नहीं लें। अपनी तैयारी पूरी करें। इससे परीक्षा में बेहतर अंक प्राप्त कर सकेंगे।

-----------------------

रीडर कनेक्ट ::

इंटर के परीक्षार्थी को रसायन विषय में पाठ्यक्रम से जुड़े किसी सवाल को समझने में परेशानी हो तो अपने सवाल दैनिक जागरण के वाट्सएप नंबर 9304680892 पर भेजें। अगले अंक में विशेषज्ञ की राय के साथ उसे प्रकाशित किया जाएगा।

----------------------

अंग्रेजी विषय में विद्यार्थियों ने पूछे सवाल :

इंटर के विद्यार्थी आदित्य शंकर, विपुल राज, श्रेया वत्स, जाह्नवी, अक्षय ने अंग्रेजी विषय में हो रही परेशानियों को लेकर दैनिक जागरण को अपने प्रश्न भेजे। आदित्य शंकर ने पूछा कि ग्रामर को समझने में परेशानी हो रही है। इसके नियमों को कैसे याद करें। विशेषज्ञ एलएस कालेज के अंग्रेजी विभाग की सहायक प्राध्यापक डा.त्रिपदा भारती ने कहा कि ग्रामर नियमित अभ्यास करने का विषय है। जितना इसका अभ्यास करेंगे इसपर पकड़ मजबूत होती जाएगी। विद्यार्थियों ने परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों के पैटर्न की जानकारी के बारे में जानना चाहा। इसपर उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष के प्रश्नपत्र को देखकर उससे सही पैटर्न की जानकारी ले सकते हैं।

Edited By: Jagran