मधुबनी, जासं। कोरोना टीका से अब तक वंचित जिलावासियों को अब नया टीका 'जायकोव-डी' का डोज लगाया जाएगा। वर्तमान में जिले में लोगों को कोविशिल्ड, कोवैक्सीन टीका लगाया जा रहा है। जायकोव-डी टीका मधुबनी के अलावा भागलपुर, जमुई, मुजफ्फरपुर और पटना में उपलब्ध होगी। प्रथम चरण में जिले को एक लाख 78 हजार 261 टीके की डोज उपलब्ध कराई जाएगी। लोगों को जायकोव-डी की तीन डोज दी जाएगी। जायकोव-डी वैक्सीन एक खास डिवाइस (इंजेक्टर) के जरिए लगाया जाएगा। इस मेथड से वैक्सीन लगने की वजह से दर्द नहीं होगा।

28वें दिन दूसरा डोज और 56 वें दिन तीसरा डोज

कोवैक्सीन के बाद देश में तैयार जायकोव-डी दूसरी वैक्सीन है। कोविशिल्ड, कोवैक्सीन से अब तक जिले के लोगों को जायकोव-डी दिया जाएगा। सिविल सर्जन डॉ. सुनील कुमार झा ने बताया जायकोव-डी के हर डोज के बीच कम से कम 28 दिन का अंतराल रहेगा। जायकोव-डी का पहला डोज लेने के 28वें दिन दूसरा डोज और 56 वें दिन तीसरा डोज लेना है। यह पहला ऐसा टीका है जिसमें तीन डोज लेनी है। इसका कोर्स कोविशील्ड से पहले ही पूरा हो जाएगा। दो डोज वाली कोविशील्ड के दोनों डोज के बीच का अंतराल 84 दिन होता है। बता दें कि जिले में 32 लाख 93 हजार 234 लोगों का टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया है। जिसमें अब तक 21 लाख 80 हजार 387 लोगों का टीकाकरण किया गया है। जबकि आठ लाख 91 हजार 305 लोग अभी भी टीका से वंचित हैं। इधर, कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन की देश में दस्तक के साथ ही जिला प्रशासन अलर्ट हो गया है। लोगों से शारीरिक दूरी का पालन और मास्क का अनिवार्य उपयोग करने की अपील की गई है। जिले में कोरोना जांच की रफ्तार को भी बढ़ा दिया गया है।  

उपमुख्यमंत्री ने किया डायग्नोस्टिक सेंटर का शुभारंभ

जासं, मुजफ्फरपुर : उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने जूरन छपरा स्थित जिला परिषद मार्केट में रविवार को डायग्नोस्टिक सेंटर व स्वास्थ्य जांच शिविर का शुभारंभ किया। मौके पर विहिप के अध्यक्ष पद्मश्री डा. आरएन ङ्क्षसह, सांसद रमा देवी, अजय निषाद, पूर्व मंत्री सुरेश कुमार शर्मा, नगर विधायक विजेंद्र चौधरी, पूर्व उपमेयर विवेक कुमार, डा. गोपाल प्रसाद, सेंटर व्यवस्थापक डा. डीएन चौधरी, डा. अमृत राजन, डा. मेजर अमित राजन आदि मौजूद रहे। संचालक ने बताया कि यहां जांच में गरीबों को रियायत दी जाएगी।

Edited By: Ajit Kumar