मुजफ्फरपुर : जिले में ऑक्सीजन की जमाखोरी और कालाबाजारी रोकने के लिए प्रशासन ने सख्ती शुरू कर दी है। डीएम द्वारा गठित टीम ने गुरुवार को ऑक्सीजन आपूर्ति करने वाली दो एजेंसियों शिवम एवं शिव शक्ति का जायजा लिया। टीम में शामिल डीसीएलआर पूर्वी स्वपनिल और नगर डीएसपी रामनरेश पासवान ने कई बिदुओं पर जांच की। एजेंसियों को कहा गया कि वे प्रतिदिन ऑक्सीजन गैस की आपूर्ति एवं उसके वितरण का लेखा-जोखा रखें। एजेंसी को कितना ऑक्सीजन उपलब्ध हुआ, एजेंसी से किस-किस अस्पतालों को कितने ऑक्सीजन की आपूर्ति की गई। इसका विवरण नहीं रखने पर कार्रवाई की चेतावनी दी गई।

मालूम हो कि जिले में ऑक्सीजन की कालाबाजारी को लेकर डीएम प्रणव कुमार ने लगातार छापेमारी का आदेश दिया है। टीम में शामिल पदाधिकारियों के अलावा मुशहरी सीओ एवं सभी थानाध्यक्षों को डीसीएलआर पूर्वी के दिशा-निर्देश का पालन करने को कहा गया है।

ऑक्सीजन को लेकर जूरन छपरा में हंगामा

जिले में ऑक्सीजन को लेकर संकट अभी बना है। जिला प्रशासन से 2937 छोटे-बड़े ऑक्सीजन सिलेंडरों की गुरुवार को डिमांड की थी, लेकिन बेला स्थित प्लांट से मात्र 912 बड़े व 130 छोटे सिलेंडरों का ही उत्पादन हो सका। ऑक्सीजन की कमी से अस्पतालों में भर्ती कोरोना के गंभीर मरीजों पर संकट गहराने लगा। जूरन छपरा स्थित एक निजी अस्पताल में गुरुवार को दूसरे दिन भी हंगामा हुआ। एक मरीज ने वीडियो वायरल कर ऑक्सीजन उपलब्ध कराने की गुहार जिला प्रशासन से लगाई है।

जिला प्रशासन द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार गुरुवार को एसकेएमसीएच को 150 बड़े व 25 छोटे, डीएमसीएच को 140, वैशाली कोविड केयर को 50, गैलेक्सी हॉस्पिटल को 21, आइटी मेमोरियल को 35, शिवम गैस एजेंसी को 44, आरबीएम हॉस्पिटल को आठ, अशोका अस्पताल को 45 बड़े व दो छोटे, न्यू मनसा हॉस्पिटल को आठ, मेडिको इमरजेंसी को पांच, डीएचएस वैशाली को दो बड़े व 50 छोटे, मोहन गैस एजेंसी महुआ को 21, प्रसाद हॉस्पिटल को 17, लाइफलाइन मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल को दो, मारवाड़ी युवा मंच को 13, मधेपुरा मेडिकल कॉलेज को 40, सत्यम सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल को पांच, मेडिकल इमरजेंसी को नौ, वेकेटेस गैस एजेंसी दरभंगा को 54, भंडारी गैस समस्तीपुर को 45 बड़े व 35 छोटे, एसएस गैस मोतिहारी को 44 सिलेंडर भेजे गए। सीएस डॉ.एसके चौधरी ने कहा कि ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए हर स्तर पर कदम उठाए जा रहे हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप