पश्चिम चंपारण, जासं।  वाल्मीकि नगर स्थित जलपूर्ति प्रतिष्ठान के समीप नेपाली टोला निवासी 60 वर्षीय लाल बहादुर थापा उर्फ भक्कू पिता स्वर्गीय वीर बहादुर थापा की मंगलवार की सुबह कमरे में फांसी के फंदे पर लटकता शव मिला। सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया। मृतक अपनी पहली पत्नी लक्ष्मी देवी की मौत के लगभग दो साल बाद पानमती देवी से दूसरी शादी की थी। पड़ोसियों की मानें तो उसके घर में बंदर घुस गया था। जिसे भगाने के लिए वे छत पर गए तो देखा कि शव फांसी के फंदे से लटक रहा है। शोर मचाने पर अन्य लोग पहुंचे। घटना के समय उसकी पत्नी पड़ोस में गई थी।

सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंच शव को अपने कब्जे में ले लिया। इस बाबत जानकारी देते हुए थानाध्यक्ष अर्जुन कुमार ने बताया कि प्रथम दृष्टया यह आत्महत्या प्रतीत होती है। उसकी पत्नी पानमती देवी से पूछताछ के दौरान पता चला कि उसके ऊपर लगभग तीन लाख (300000) का कर्ज है। कर्जदारों के द्वारा अपने पैसा मांगने से तंग आकर अपने नेपाल के नवलपरासी जिले के बरवा गांव स्थित जमीन बेचने का प्रयास कर रहा था। परंतु जमीन बिक नहीं रही थी। इससे तंग आकर अपने घर में छत से लटक कर अपनी जान दे दी। शव को पोस्टमार्टम के लिए अनुमंडलीय अस्पताल बगहा भेज दिया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत के कारणों का पता चलेगा।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021