मुजफ्फरपुर, जेएनएन। पूर्वांचल एक्सप्रेस हादसे की जांच को रेल पुलिस ने गुरुवार को एक टीम गठित की। इसमें एक पदाधिकारी और दो सिपाहियों को शामिल किया गया है। यह टीम गोरखपुर कोचिंग डिपो के अधिकारियों, कर्मियों और मुजफ्फरपुर रेलवे के इंजीनियरिंग विभाग के अधिकारियों से पूछताछ करेगी। रेल थानाध्यक्ष नंदकिशोर सिंह ने बताया कि घटना में कोचिंग डिपो और इंजीनियरिंग विभाग के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। दोनों विभागों की लापरवाही सामने आ रही है। एक-दो दिन में एफएसएल जांच रिपोर्ट मिल जाएगी। उसके बाद गोरखपुर के लिए टीम को रवाना किया जाएगा। 

27 को फिर होगी कर्मियों से पूछताछ

हादसे की जांच कर रही टीम 27 अक्टूबर को जंक्शन पर 10 रेल कर्मियों से पूछताछ करेगी। पूछताछ की जद में स्टेशन मास्टर, लोको पायलट, गार्ड, सहायक लोको पायलट, लोको पायलट, गेटमैन, कोचिंग विभाग के कर्मचारी आएंगे। डीआरएम ने कहा कि सभी तरह की जांच की जा रही है। इससे पूर्व बुधवार को टीम ने पटना में 10 कर्मचारियों से पूछताछ की थी। लेकिन कोई निष्कर्ष नहीं निकल सका। 

यह है मामला 

गोरखपुर से कोलकाता जा रही पूर्वांचल एक्सप्रेस की दो बोगियां मंगलवार की शाम मुजफ्फरपुर-समस्तीपुर के सिलौत स्टेशन के समीप बेपटरी हो गई थीं। एसी कोच में लगी टंकी की वेल्डिंग टूटने से यह हादसा हुआ था। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस