मुजफ्फरपुर, जेएनएन। Muzaffarpur Water Logging : शहर के एक दर्जन मोहल्लों में अब भी बारिश का पानी जमा हुआ है। 21 दिनों से जमा पानी को निकालने के लिए नगर निगम दिन-रात रास्ता बनाने में लगा है। कहीं नालों पर बने अतिक्रमण को तोड़ा जा रहा है तो कहीं सड़कों को काटकर कच्चे नाले बनाए जा रहे हैं। इसके लिए निगम ने आधा दर्जन जेसीबी मशीन लगा रखी है। इस अभियान का नेतृत्व अपर नगर आयुक्त विशाल आनंद कर रहे हैं। क्लब रोड, बीबीगंज, मझौलिया रेलवे लाइन रोड, एमडीडीएम कॉलेज रोड, चैपमैन स्कूल रोड में जेसीबी की सहायता से नाले की सफाई की गई और अवरोधों को हटाया गया। वहीं ज्ञानलोक गली, संजय सिनेमा रोड से पंङ्क्षपग सेट की सहायता से पानी निकाला गया।

नहीं निकल पा रहा पानी

सबसे ज्यादा परेशानी शहर के पूर्वी एवं उत्तरी भाग में बांध किनारे बसे इलाकों की है। स्लूस गेट बंद होने के कारण शहर के एक बड़े भाग को पानी नहीं निकल पा रहा है और इन मोहल्लों में जमा हो रहा है। इन मोहल्लों में बालूघाट, पानी कल, चर्च रोड चंदवारा, सिकंदरपुर, अखाड़ाघाट, बोला बांध रोड आदि शामिल हैं। इन मोहल्लों से पानी निकालने के लिए निगम ने बांध पर 80 एचपी से आठ एचपी क्षमता तक के पंङ्क्षपग सेट लगाए हैं। जिसकी सहायता से पानी को संप कर नदी में डाला जा रहा है।

निगम की पूरी टीम काम में जुटी

अपर नगर आयुक्त विशाल आनंद ने कहा कि निगम की पूरी टीम शहरवासियों को जलजमाव की पीड़ा से निजात दिलाने में लगी है। जहां भी पानी लगा है वहां से उसे निकालने की जुगत लbगाई जा रही है।

नहीं हटाया जा रहा नाला से निकाला गया मलवा

पानी निकालने के लिए बड़े पैमाने पर नाला उड़ाही एवं नाला खोदने का काम चल रहा है। इस दौरान निकाले गए कचरा एवं मलवा को सड़क पर छोड़ दिया जा रहा है। इससे आम लोगों को सड़क पर चलने में भारी परेशानी हो रही है। कई लोगों को घरों से निकलने में भी परेशानी हो रही है। लोगों का कहना है कि निगम निकाले गए मलवा को साथ-साथ निष्पादन करें। सिटी मैनेजर ओम प्रकाश का कहना है कि मलवा हटाया जा रहा है। अभी सारा ध्यान जमा पान निकालने पर है। जल्द ही सभी मलवा को हटा लिया जाएगा।

 

Edited By: Ajit Kumar