मुजफ्फरपुर, जेएनएन। डीएवी खबड़ा स्कूल के समीप नवलकिशोर नगर सहित अन्य मोहल्लों के जमे पानी को निकालने के लिए एनएच किनारे नाला खोद दिया गया है। यह वाहन चालकों के लिए परेशानी का सबब बन जाएगा। बारिश में मिट्टी खिसक कर मुख्य सड़क की ओर चली जाएगी। इससे छोटे-बड़े वाहनों के दुर्घटना होने की आशंका प्रबल हो गई है। अत्यधिक बारिश में एनएच टूट भी सकती है।

डीएवी खबड़ा के प्राचार्य मनोज कुमार झा ने कहा कि, ड्रेनेज काफी आपत्तिजनक तरीके से खोदा गया है। अभी स्कूल बंद है, बच्चे नहीं आ रहे। लेकिन स्टाफ का आना-जाना तो होता है। स्कूल खुलने पर बच्चे और स्वजनों को स्कूल के अंदर प्रवेश करने में काफी मुश्किल होगी। स्कूल के अग्रभाग में पूरे सामने से जेसीबी से नाला खोद कर छोड़ दिया गया है। विद्यालय के स्टाफ गाड़ी कहां लगाएंगे, यह सोच कर सब परेशान हैं।  

क्षतिग्रस्त बांध की मरम्मत में जुटी रही जल संसाधन विभाग की टीम

मोतीपुर  के मठिया में क्षतिग्रस्त बूढ़ी गंडक नदी की बांध मरम्मत में जल संसाधन विभाग की टीम के साथ स्थानीय लोग भी जुटे रहे। मरम्मत और बचाव कार्य का जायजा विधायक नंद कुमार राय, एसडीओ पश्चिमी अनिल कुमार दास, सीओ कुमार भाष्कर, नगर पंचायत के वार्ड पार्षद मिथिलेश राय ने लिया। इधर, लगातार हो रही बारिश से क्षतिग्रत बांध के टूटने का खतरा अब भी बरकरार है। बांध मरम्मत के लिए बोरे में राबिश, बालू, मिट्टी रखी जा रही है। आसपास के लोगों को सतर्क कर दिया गया है। बता दें कि गुरुवार की रात मठिया गांव के समीप बूढ़ी गंडक नदी का बांध दरकने लगा जिससे लोगों में भगदड़ मच गई। लोगों की सूचना पर बांध मरम्मत का कार्य युद्धस्तर पर शुरू हुआ। एसडीओ पश्चिमी और सीओ जल संसाधन की टीम के साथ पूरी रात मौके पर रहे। सीओ ने बताया कि मरम्मत का कार्य दो- तीन दिनों तक चलेगा। फिलहाल बांध को टूटने से बचा लिया गया है। नदी का जलस्तर क्षतिग्रत बांध के निकट लेबल से नीचे है। 

Edited By: Ajit Kumar