संवाद सूत्र, मुंगेर : सहरसा-जमालपुर-गया पैसेंजर ट्रेन में सोमवार को एक महिला ने बच्ची को जन्म दिया। मुंगेर गंगा ब्रिज पर कोच में बच्चे की किलकारी गूंजी। मुंगेर स्टेशन पर ट्रेन को कुछ देर के लिए रोका गया। यात्रियों की मदद से महिला और उसके बच्चे को उतारा गया। सभी फिर सदर अस्पताल गए। जच्चा और बच्चा पूरी तरह सुरक्षित हैं। दरअसल, कासिम बाजार थाना क्षेत्र के लल्लूपोखर के सोनू कुमार की पत्नी कोमल कुमारी खगड़िया स्थित मायका गई हुई थी। सोमवार की सुबह सात बजे खगड़िया से सहरसा-जमालपुर-गया पैसेंजर से मुंगेर आ रही थी। इस माह में गुड़िया को प्रसव होने का समय चिकित्सकों ने दिया था। ट्रेन सुबह जैसे ही गंगा पुल गुजरकर मुंगेर स्टेशन पहुंचने वाली थी, तभी पुल पर कोमल को प्रसव पीड़ा होने लगा। कोच में बैठी अन्य महिलाएं स्थिति को भांप गई और प्रसव कराने के लिए कोच के कंपार्टमेंट को कपड़े से घेर दिया और सुरक्षित प्रसव कराया। महिला ने बच्ची को ट्रेन पर ही जन्म दिया। ट्रेन तब तक मुंगेर स्टेशन पहुंच गई थी। ट्रेन रूकते ही सहयात्री महिला और नवजात को उतारा और उसे सदर अस्पताल पहुंचाया। जहां महिला को प्रसव वार्ड में भर्ती कराया गया। सूचना मिलते ही लल्लूपोखर से महिला के स्वजन अस्पताल पहुंचे, ट्रेन पर सहयोग करने वाले यात्रियों के प्रति आभार जताया। स्वजन काफी खुश दिखे।

----------------------------

स्वजनों ने यात्रियों को जताया आभार

महिला के पति लल्लूपोखर के सोनू कुमार ने बताया कि पत्नी खगड़िया मायका गई थी। सोमवार की सुबह पैसेंजर ट्रेन पकड़कर मुंगेर आ रही थी। पुल के पास पत्नी ने बच्ची को जन्म दिया। मदद करने वाले यात्रियों को स्वजनों ने आभार जताया। सदर अस्पताल प्रबंधक मु. तौसीफ ने बताया कि सुबह 7:30 बजे के आसपास मुंगेर रेलवे स्टेशन से गंभीर स्थिति में महिला और नवजात को सदर अस्पताल लाया गया। तुरंत प्रसव वार्ड में दोनों को भर्ती किया गया। चिकित्सकों की देखरेख में उनका इलाज किया गया। देर शाम जच्चा और बच्चा को स्वजन घर ले गए।

Edited By: Jagran