संवाद सहयोगी, जमालपुर (मुंगेर) : ईस्टन रेलवे मेंस यूनियन कोलकाता का 15 वां तीन दिवसीय द्विवार्षिक अधिवेशन शनिवार से नेशनल इंस्टीट्यूट लाल झंडे की करे पुकार, मजदूर एकता जिदाबाद के नारे से गूंज उठा। अधिवेशन के मुख्य अतिथि एआइआरएफ के महामंत्री शिव गोपाल मिश्रा का स्वागत सेंट्रल महामंत्री अमित घोष के नेतृत्व में 40 शाखा से पधारे 500 डेलिगेट्स ने किया। एआइआरएफ के महामंत्री ने कहा कि यूनियन नेताओं ने मजदूर एकता जिदाबाद, मेंस यूनियन जिदाबाद, एआइआरएफ जिदाबाद के नारे से महामंत्री का भव्य अभिनंदन किया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार में रेल को बेचने व निजीकरण करने की जो योजना बनाई जा रही है। उसे कभी पूरा नहीं होने दिया जाएगा। किसी भी कीमत पर रेल बिकने और निजीकरण नहीं होने देंगे। रेलवे धरोहर है और इस धरोहर के साथ खिलवाड़ नहीं होने देंगे, जरूरत पड़ी तो रेल चक्का जाम किया जाएगा। एक्ट अप्रेंटिस के सवाल पर कहा की वर्तमान रेल मंत्री व चेयरमैन से सकारात्मक बात चल रही है। एक्ट अप्रेंटिस के हजारों प्रशिक्षित कर्मियों को जल्द से जल्द रेल में समायोजित किया जाएगा। स्वागत भाषण देते हुए होम्योपैथ के प्रसिद्ध चिकित्सक डा. दिनेश दुबे ने कारखाना का गौरवशाली इतिहास से रूबरू कराया। अध्यक्षता सेंट्रल के कार्यकारी अध्यक्ष सुधीर राय व संचालन महामंत्री अमित घोष ने किया।

-------------------

एक्ट अप्रेंटिस की दिशा में हो पहल

सफाई मजदूर संघ के नेता प्रमोद पासवान अधिवेशन में पहुंचे सभी अतिथियों का स्वागत किया। भारतीय रेलवे सबसे बड़ा मुद्दा वैसे तमाम युवा जो एक्ट अप्रेंटिस कर के सड़कों पर भटक रहे हैं उन्हें रोजगार दिलाना है। हजारों छात्र जीविकोपार्जन के लिए सरकार की ओर आशा भरी निगाहों से टकटकी लगाए बैठे हैं। नियुक्ति नहीं मिलने के कारण सभी छात्र हताश है व भुखमरी के कगार पर हैं। ऐसे में सरकार के इस महत्वपूर्ण विजन पर कहीं न कहीं प्रश्नचिन्ह खड़ा कर रहा है।

-------------------------------------

अधिवेशन पिकनिक बनाने का स्पोर्ट

यूनियन का द्विवार्षिक अधिवेशन जमालपुर में होना महज पिकनिक मनाने का स्पोर्ट माना गया है, क्योंकि कारखाना के विकास पर जो लड़ाई यूनियन को लड़नी चाहिए वह यहां देखने को नहीं मिल रहा है। ये राजद के जिला सचिव राजेश रमण उर्फ राजू यादव ने कहाी। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय वाद के कारण जमालपुर कारखाना का अस्तित्व खतरे में है, कारखाना के यूनियन नेता इमानदारी से कारखाना को बचाने को लेकर स्थानीय नेता के आंदोलन में कदम से कदम मिलाकर संघर्ष करते तो कारखाना ऊंचाई पर होगा। भारतीय रेल में जमालपुर कारखाना का एक महत्वपूर्ण स्थान है। वर्तमान रेल मंत्री से भविष्य कारखाना पर विशेष ध्यान देने की मांग की।

Edited By: Jagran