मुंगेर । रेलवे बोर्ड के निर्णय एवं स्थानीय प्रशासन की सहमति के बाद आखिरकार 64 दिनों के बाद जमालपुर रेल कारखाना खुल गया। इस दौरान शारीरिक दूरी का विशेष ख्याल रखा गया।

कारखाना खुलते ही रेल कर्मी गेट संख्या एक पर पहुंच गए। इस दौरान सभी रेलकर्मी शारीरिक दूरी के अनुपालन को लेकर सजग दिखे। आरपीएफ द्वारा स्क्रीनिग जांच के बाद ही रेल कर्मियों को कारखाने के अंदर प्रवेश करवाया गया। रेलकर्मी के अलावा ठेकेदार के मजदूरों को भी कारखाने में प्रवेश जांच पड़ताल के बाद ही मिला। काफी लंबे समय के बाद कारखाना खुलने की खुशी रेलकर्मी के चेहरे पर स्पष्ट दिखाई दे रही थी। वहीं, कुछ रेलकर्मी कोरोना संक्रमण के भय से भयभीत भी नजर आए। रेलवे से मिली जानकारी के अनुसार शारीरिक दूरी के अनुपालन को लेकर मुख्य कारखाना प्रबंधक सुदर्शन विजय द्वारा तीन शिफ्ट में काम कराने का निर्देश जारी किया गया है। ताकि, एक साथ बड़ी संख्या में रेलकर्मी कार्य स्थल पर नहीं जुटें। वही जिला प्रशासन ने भी कारखाना में शारीरिक दूरी के अनुपालन की शर्त के साथ कार्य करने की अनुमति दी है। इसी अनुमति के तहत कारखाने के लगभग सात हजार रेल कर्मियों से 33 प्रतिशत कार्य तीन शिफ्ट में कारखाना प्रशासन लेने जा रहा है। जो सुबह 8:00 से 4:00, सुबह 9:00 से 5:00 एवं सुबह 10:00 से 6:00 बजे तक कार्य करने की अनुमति दी है। वहीं, रविवार को भी रेल कर्मियों को कार्य के लिए बुलाया जा सकता है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस