मुंगेर। एक फरवरी को आम बजट के बाद जमालपुर से मुंगेर गंगा पुल के रास्ते बेगूसराय और खगड़िया की ओर जाने वाली ट्रेनें इलेक्ट्रिक इंजन के सहारे चलने लगेंगी। इस खंड पर डेमू की जगह इएमयू ट्रेनों का परिचालन किया जाएगा। इससे न सिर्फ यात्रियों के समय की बचत होगी, बल्कि गाड़ियों की रफ्तार भी बढ़ेगी। मुंगेर-साहिबपुर कमाल के बीच कमिश्नर ऑफ सेफ्टी ने मंगलवार को विद्युतीकरण को लेकर किए गए कार्य का निरीक्षण किया। एक सप्ताह के अंदर रिपोर्ट आने के बाद इलेक्ट्रिक इंजन से परिचालन शुरू हो जाएगा। भारतीय रेल का पूरे देश भर में डीजल इंजन से चलने वाले रेलखंड को विद्युतीकरण करने की योजना है। जमालपुर से खगड़िया और बेगूसराय के बीच गंगा पुल होकर चलने वाली गाड़ियों का परिचालन डेमू रैक से किया जा रहा है। गंगा पुल पार करने के बाद बरौनी-कटिहार रेलखंड पूरी तरह विद्युतीकरण है। जमालपुर से खगड़िया और तिलरथ (बेगूसराय) जाने के रास्ते में उमेशनगर-साहेबपुर कमाल से विद्युतीकरण लाइन शुरू हो जाता है। जमालपुर से खगड़िया जाने के क्रम में उमेश नगर की दूरी 19 किमी है। वहीं, जमालपुर से तिलरथ (बेगूसराय) जाने के रास्ते में साहेबपुर कमाल की दूरी 21 किलोमीटर है।

--------------

ईएमयू चलने से यात्रियों को होगी सहूलियत

अभी इस खंड पर छह से आठ कोच की डेमू ट्रेन चलती है। इस कारण यात्रियों को खड़े होकर ही सफर करना पड़ता है। ईएमयू चलने के बाद ट्रेन कोच की संख्या 14 से 16 हो जाएगी। इस कारण यात्रियों का सफर आरामदायक हो जाएगा। यात्रियों को सीट के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस