- छह वर्ष बाद भी नहीं शुरू हो पाई पेयजल आपूर्ति योजना

- नगर परिषद क्षेत्र में हैंड पंप और प्याऊ के जरिये प्यास बुझा रहे लोग

संवाद सूत्र, जमालपुर (मुंगेर) : छह वर्ष से अधिक समय बीत गए। शहरी पेयजल आपूर्ति योजना पर करोड़ों रुपये खर्च हो गए। इन छह वर्ष में गंगा में ना जाने कितना पानी बह गया। लेकिन, जमालपुर शहरवासियों का इंतजार खत्म नहीं हुआ। करोड़ों रुपये खर्च होने के बाद भी लोगों की प्यास नहीं बुझ सकी। शहर वासियों को शुद्ध पेयजल आपूर्ति कराने के लिए लगभग तीस करोड़ रुपये की राशि लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग को स्थानांतरित की गई है। लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग के कार्यपालक अभियंता के अनुसार मार्च महीना तक शहर की सभी मुख्य सड़कों तक पाइप लाइन बिछाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। मुख्य सड़क से घर घर कनेक्शन देने के लिए बुडको को लगभग 57 करोड़ की राशि स्थानांतरित किया जाना है। लेकिन, अभी तक योजना पूर्ण नहीं हो सकी।

---------------

बॉक्स

31 में 26 प्याऊ है चालू अवस्था में

नगर परिषद क्षेत्र के 36 वार्ड में नप प्रशासन द्वारा लोगों को पीने के पानी को उपलब्ध कराने के लिए 31 प्याऊ लगाए गए हैं। जिसमे 26 प्याऊ से ही लोगों को पानी मिल रहा है। पांच प्याऊ खराब पड़े हुए हैं।

-------------------

बॉक्स

कहते हैं कार्यपालक पदाधिकारी

नप क्षेत्र के लोगों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने को लेकर काम चल रहा है। शहर शहर की मुख्य सड़कों पर जिदल द्वारा पाइप लाइन बिछाने का कार्य मार्च महीने के अंत तक पूरा कर लिया जाएगा। इसके बाद हर घर नल का जल पहुंचाने के लिए बुडको को लगभग 57 करोड़ रुपये की राशि स्थानांतरित की जाएगी।

सूर्यानंद सिंह, कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद जमालपुर

Posted By: Jagran