मुंगेर : अनुमंडल के संग्रामपुर प्रखंड अंतर्गत मनिया मध्य विद्यालय के छात्र छात्राओं ने अपने गांव में बालू लदे ट्रैक्टरों के परिचालन का विरोध किया। बच्चों के साथ उनके अभिभावकों ने भी सड़क जाम कर ट्रैक्टर के परिचालन को लेकर अपना विरोध दर्ज कराया। इस संबंध में विद्यालय के प्रधानाध्यापक ओम कुमार ने भी डीएम को पत्र लिखकर स्कूल के बगल से गुजरने वाली ग्रामीण सड़क से बालू लदे ट्रैक्टरों के परिचालन से हो रही कठिनाइयों की ओर ध्यान आकृष्ट किया है। प्रधानाध्यापक ने अपने पत्र में लिखा है कि ग्रामीण सड़क पर प्रतिदिन सुबह से लेकर देर रात्रि तक बालू से लदे 50 से अधिक ट्रैक्टर प्रतिदिन गुजरते हैं । जिस कारण सड़कों पर उड़ते धूल के कारण बच्चों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। वहीं, बच्चों के मध्याह्न भोजन भी धूल से भर जाता है। साथ ही साथ ट्रैक्टर चलने के कारण सड़क की इतनी दुर्गति हो गई है कि कभी भी किसी भी समय विद्यालय के छात्र-छात्राएं बेधड़क दौड़ रही वाहनों के चपेट में आकर अपना जान गंवा दे । उन्होंने डीएम से गुहार लगाई है कि ग्रामीण सड़क के परिचालन बंद कर कोई वैकल्पिक उपाय ढूंढ़े। प्रधानाध्यापक द्वारा दिए गए आवेदन में सूरज कुमार, अजीत कुमार, छोटी कुमारी, चांदनी कुमारी, वर्षा कुमारी, राजीव कुमार, बादल कुमार, राकेश कुमार, रोशनी कुमारी, चंदा कुमारी, बिजली कुमारी आदि ने कहा कि अविलंब इस दिशा में कार्रवाई नहीं की गई, तो आंदोलन को तेज किया जाएगा। लगभग चार घंटे तक सड़क जाम रहा। बाद में छात्रों ने जाम समाप्त किया।

Posted By: Jagran