मुंगेर : शहीद जवान अजय के शव के साथ पहुंचे सीआरपीएफ डीआइजी ने कहा कि नक्सली हमले में हमने अजय जैसे जाबांज जवान को खोया वहीं परिवार ने अपना पुत्र, अपना भाई, अपना पति, अपना पिता, बेटे को खो दिया है। मैं अपने जाबांज को अंतिम विदाई देने उसके पैतृक निवास पहुंचा हूं । भगवान इस दु:ख की घड़ी में उसके परिजनों को हिम्मत दे । उन्होंने कहा की एक महीन के अंदर सभी औपचारिकताएं पुरी कर शहीद के परिजनों का जो भी अधिकार है मिल जाएगा । जहां तक उनके आश्रितों को अनुकंपा पर नौकरी का प्रावधान है, अभी अजय के बच्चे छोटे हैं । फिर भी जो उचित होगा विभाग द्वारा किया जाएगा ।

---------

शहीद का शव पहुंचते ही टूटी दलीय दीवार

जमालपुर : पटना से हैलीकॉप्टर से शहीद अजय के शव आने की खबर जैसे ही जिला प्रशासन व साथ ही राजद, भाजपा, जदयू, सपा, कांग्रेस, रालोसपा, लोजपा के प्रतिनिधियों को मिली सभी हवाई अड्डा पहुंच गए । राजनीतिक दल के प्रतिनिधियों ने शहीद के कौफीन को कंधा दिया । हर दल के लोग बिना भेदभाव के शहीद के अंतिम दर्शन के लिए एक दूसरे की मदद करते नजर आए। जहां राजद जिलाध्यक्ष प्रमोद यादव, शिशिर कुमार लालू, मनीष यादव, पंकज यादव, भाजपा जिलाध्यक्ष लालमोहन गुप्ता, प्रणव यादव, जदयू नगरध्यक्ष अनिल यादव, सोनू मंडल, सपा जिला सचिव अमरशक्ति, मनोज क्रांति, कुमार प्रभाकर, सत्यजीत, लोजपा के राघवेंद्र भारती, प्रमोद पासवान, वरीय नेता इंदर उपाध्याय, शरद गुट के अध्यक्ष जफर अहमद, रालोसपा के वशिष्ठ सहित अन्य नेतागण शामिल थे।

Posted By: Jagran