मुंगेर। छत्तीसगढ़ के सुकमा किस्टाराम इलाके में मंगलवार को नक्सलियों द्वारा किए गए आइइडी विस्फोट में सीआरपीएफ 212 बटालियन के जवान और जमालपुर मुंगरौड़ा सिकंदरपुर निवासी सरयुग यादव के 38 वर्षीय पुत्र अजय कुमार यादव शहीद हो गए। अजय उर्फ फंटूस की शहादत पर मंगलवार को जहां लोगों के चेहरे पर गर्व का भाव था। वहीं, एक लाल को खो देने का गम भी। शहीद के शव को बीएसएफ के विमान से पटना लाया गया। जहां राज्य सरकार के ग्रामीण कार्य मंत्री सह स्थानीय विधायक शैलेश कुमार पहुंच कर श्रद्धाजंलि दी। शहीद के शव पर पुष्पचक्र अर्पित करते हुए मंत्री ने कहा कि देश की सेवा में कार्य करने वाले जवान की शहादत को शत शत नमन करता हूं। मंत्री ने अजय के पिता सरयुग यादव से फोन पर बात कर उन्हें सांत्वना देते हुए कहा कि दुख की घड़ी में राज्य सरकार आपके साथ है। वहीं, बुधवार को शहीद की एक झलक पाने के लिए सफियाबाद हवाई अड्डा पर हजारों लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। हाथों में तिरंगा, भारत माता की जय और शहीद अजय अमर रहे के नारों से हवाई अड्डा परिसर गूंज उठा। वरीय प्रशासनिक अधिकारियों से लेकर विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं ने शहीद को श्रद्धांजलि दी। श्रद्धाजंलि देने वालों में भाजपा के पूर्व नगर अध्यक्ष शंभू शरण ¨सह, राजद अध्यक्ष मंटु कुमार यादव, जदयू अध्यक्ष अनिल कुमार यादव, प्रखंड अध्यक्ष बिपिन कुमार ¨सह, धरहरा प्रखंड अध्यक्ष नवीन ¨सह, शमशेर आलम, रिजवान आलम, मिथुन कुमार, राजीव यादव, सोनू मंडल, सहित कई लोग मौजूद थे।

By Jagran