मुंगेर । 28 सितंबर को मारपीट में घायल युवक की मौत पर ग्रामीणों ने खूब बवाल काटा। रविवार की देर शाम बांक पंचायत के मिन्नत नगर के लोग सड़क पर उतर आए और एनएच-80 को जाम कर दिया। जाम की सूचना मिलते ही चार थाने की पुलिस और बीडीओ-सीओ पहुंचे, लेकिन लोग घटनास्थल पर डीएम और एसपी के आने की मांग पर अडिग रहे। आश्वासन के बाद लगभग ढाई घंटे बाद जाम हटाया गया। घटना में शामिल आरोपितों की गिरफ्तारी जल्द से जल्द गिरफ्तारी का आश्वासन देने के बाद लोग मानें। दरअसल, 28 सितंबर को चेहल्लूम के दशमी के दिन मु. चांद अपनी भतीजी के साथ घूमने जा रहा था, इस बीच खंजरटोला के मु.इमरान, मु. सैय्यद, मु. शाद्दाम और मु. सोनू बच्ची के साथ छेड़खानी का प्रयास किया। इसका मु. चांद ने विरोध किया तो सभी ने पिटाई कर दी। सूचना मिलने के बाद गंभीर हालत घरवालों ने इलाज के लिए सदर अस्पताल पहुंचाया। सदर अस्पताल से बेहतर इलाज के लिए पटना रेफर कर दिया गया। जहां शनिवार की देर रात मु. चांद की मौत हो गई। घरवालों का कहना है कि पिटाई की घटना को लेकर पूरबसराय ओपी में मुकदमा दर्ज किया गया है। इसमें चार से ज्यादा लोगों को नामजद किया गया था। घटना के करीब तीन सप्ताह बाद भी किसी आरोपित को पुलिस नहीं पकड़ सकी। एसपी जग्गुनाथ रेड्डी जलारेड्डी ने बताया कि घटना में नामजद लोगों को किसी भी सूरत में नहीं बख्शा जाएगा। एसपी ने संबंधित थाना को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने का निर्देश दिया है।

Edited By: Jagran