संवाद सूत्र, हवेली खड़गपुर(मुंगेर): स्वच्छता सर्वेक्षण की तैयारी को लेकर ग्रेडिग पाने के उद्देश्य से हवेली खड़गपुर नगर परिषद क्षेत्र में तैयारी शुरू कर दी है। नगर परिषद क्षेत्र के विभिन्न कार्यालय, स्कूल व कालेजों की दीवारों पर स्वच्छता से संबंधित कई स्लोगन लिखी जा रही है, जिसमें गाड़ी वाला आया घर से कचरा निकाल, बापू का यह सपना, स्वच्छ और सुंदर हो नगर परिषद अपना, प्लास्टिक हटाना है, पर्यावरण को बचाना है सहित कई स्लोगन लिखी गई है। फरवरी माह में स्वच्छता सर्वेक्षण की टीम हवेली खड़गपुर आएगी। सर्वेक्षण के दौरान जन जागरूकता और समुदाय के जुड़ाव के लिए विभिन्न प्रकार की गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा। समुदाय का फीडबैक, समुदाय का अनुभव, समुदाय को प्रेरित करने के लिए विभिन्न प्रकार की गतिविधियां की जानी है। नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी प्रथमा पुष्पांकर ने बताया कि फरवरी माह में सर्वेक्षण के लिए टीम आएगी और स्वच्छता देखकर नगर परिषद क्षेत्र को ग्रेडिग करेगी। इसके लिए दीवार लेखन के माध्यम से लोगों को क्षेत्र में स्वच्छ रखने के लिए जागरूक किया जा रहा है। जागरूकता से संबंधित होर्डिंग भी लगवाई जाएगी। जगह जगह पर डस्टबिन भी रखा जाएगा, ताकि लोगों को कचरा फेंकने में किसी प्रकार की परेशानी ना हो, और कचरा डस्टबिन में ही डालेंगे। कई स्थानों पर पूर्व में भी डस्टबिन दिया जा चुका है। उन्होंने नगरवासियों से हवेली खड़गपुर नगर परिषद क्षेत्र को स्वच्छ रखने में मदद करने की अपील की है।

बरियारपुर रेलवे स्टेशन पर यात्री सुविधा का अभाव

संवाद सूत्र, बरियारपुर(मुंगेर): जमालपुर- भागलपुर रेल खंड पर स्थित बरियारपुर रेलवे स्टेशन पर यात्री सुविधा का घोर अभाव है। प्लेटफार्म पर शेड का अभाव रहने के कारण यात्रियों को खुले आसमान के नीचे सीमेंट के बने सीट पर बैठ कर ट्रेन का इंतजार करना पड़ता है। बरसात,गर्मी व जाड़े में यात्रियों को इससे परेशानी का सामना करना पड़ता है। स्टेशन पर शौचालय व यूरिनल की सुविधा उपलब्ध नहीं रहने के कारण भी आम यात्रियों को परेशानी होती है। हांलाकि प्लेटफार्म पर शौचालय बना हुआ है। जिसकी चाभी स्टेशन प्रबंधक के कार्यालय में रहती है। आवश्यकता होने पर यात्री चाभी लेकर शौचालय का प्रयोग करते हैं। रेलवे ओवरब्रिज निर्माण होने के बाद क्रासिग बंद कर दिए जाने के कारण यात्रियों को प्लेटफार्म पर आने जाने में परेशानी होती है। फाटक को लोहे के पटरी से बंद कर दिए जाने के कारण महिलाओं व विकलांगों को आने जाने में परेशानी होती है। प्रखंड के लोगों का कहना है कि बरियारपुर रेलवे स्टेशन पर चार प्रखंड के यात्री यात्रा करते हैं, लेकिन ट्रेनों के ठहराव के साथ-साथ यात्री सुविधा उपलब्ध कराने में रेल मंत्रालय की कोई रुचि नहीं है, जिस कारण बरियारपुर स्टेशन पिछड़ा हुआ है। संजय कुमार सिंह, मनोज कुमार सिंह, विनोद कुमार,रघु कुमार ने मालदा रेल डिवीजन के डीआरएम से इस ओर ध्यान देने की आवश्यकता जताई है।

Edited By: Jagran