त्रिभुवन चौधरी, हेमजापुर (मुंगेर): धनतेरस की खरीदारी से थके-मांदे ग्रामीण बुधवार सुबह खूब सबेरे उठे। अपना पहला वोट गिराने को लेकर बेताब मतदाता बुधवार की सुबह छह बजे से मतदान केंद्रों पर पहुंचने लगे। पंचायती चुनाव में यमदीप (ग्रामीण भाषा में जमदीया) के महासंयोग के बीच पहली बार मतदाता उत्साह से लबरेज वोट करने पहुंचे। गुरुवार को दीपावली है। ढेर सारे काम पड़े हैं, यह जानते हुए भी ग्रामीणों को आज काम पर जाने की कोई जल्दी नहीं थी। महिलाओं को भी आज घर में घरेलू काम निबटाने और चूल्हा-चौका करने की कोई जल्दीबाजी नहीं है। बुजुर्ग मतदाता गांव के युवकों से मतदान केंद्र का पूरा पता पूछ ले रहे हैं। बेटा कौन बूथ पर जाना छैय..केतना दूर छै..। पांच वर्ष बाद पंचायती चुनाव में गांव की सरकार चुनने के इस मौके को कोई गंवाना नहीं चाह रहे हैं। मतदान के दिन महिलाएं खुशी से फूले नहीं समा रही थी। लाल, पीले, नीले, काले यानि रंग-बिरंगी साड़ियों में घूंघट का ओट लिये ग्रामीण महिलाओं में वोट करने के प्रति गजब का उत्साह नजर आया। घर से निकलने से पहले अपने पड़ोसी दीदी को फोन लगा कह रही थी। हे दीदी! चूल्हा चौका रोज होय छैय। वोट रोज नैय होय छैय। चलियौ न पहिले वोट देबैय तब चूल्हा-चौका होतैय..। फिर हाथ में पर्ची लेकर समूह बना मतदान केंद्रों की आकर चली जा रही थी। दीदी, चाची, ननद, सासु मां और गोतनी सबके मन में पहले वोट गिराने की चिता थी। किन-किन उम्मीदवारों को वोट अधिक मिलेगा। इस पर भी राह चलते चर्चा हो रही थी। कोई नये वाले को वोट करने का मन बना चुकी थी तो कई पुराने वाले को अच्छा बता मतदान करने की बात कह रही थी। आज बूथों पर भी महिलाओं की अधिक भीड़ पंचायत चुनाव के प्रति सजगता का स्पष्ट संकेत दे रही थी। मतदान केंद्रों पर अपने बच्चों को गोद में लिये महिलाएं भी मतदान करने पहुंची थी। पर्व-त्योहारों के बीच धरहरा प्रखंड में मतदान अलग नजारा पेश कर रहा था।

-------------------------

काम पर नहीं जाने से टाल और दियारा हुआ सुनसान

संवाद सूत्र, हेमजापुर (मुंगेर): आम दिनों की भांति हर समय किसानों और मजदूरों से गुलजार रहनेवाले टाल और दियारा इलाके बुधवार को सूनी-सूनी नजर आयी। दियारा इलाके में काम करने के लिए मजदूरों को ढ़ोने वाली नौकाओं पर आज कोई नहीं दिखा। टाल, दियारा के साथ-साथ नौकाएं भी सूनी थी। पहले मतदान फिर जलपान, फिर कोई काम की कहावत पर आज हर कोई अडिग नजर आये। नौका पर इक्के-दुक्के सवार लोग बता रहे थे-सभी मजदूर और किसान भाई आज मतदान करने गये हैं।

----------------------------

मुखिया प्रत्याशी के साथ हुई मारपीट, सड़क जाम

मतदान को लेकर धरहरा प्रखंड के हेमजापुर ओपी क्षेत्र में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे। नक्सल प्रभावित इलाकों के साथ एनएच 80 के शिवकुंड के अति संवेदनशील मतदान केंद्रों पर पुलिस बल के साथ ही अतिरिक्त जवानों की भी नियुक्ति की गई थी। हेमजापुर पंचायत के एक मुखिया प्रत्याशी संजय कुमार के साथ चांद टोला में दूसरे प्रत्याशी के समर्थकों ने मारपीट की, लोग आक्रोशित हो गए और सड़क जाम कर विरोध प्रकट किया। पदाधिकारियों के आश्वासन पर जाम टूटा। हेमजापुर ओपी क्षेत्र में सुरक्षा और शांति व्यवस्था को लेकर डीएम नवीन कुमार, ने करीब 15 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया है। एसपी जग्गुनाथ रेड्डी जलारेड्डी, खड़गपुर एसडीपीओ व एसडीओ सहित हेमजापुर ओपी प्रभारी रिकू रंजन, कासिम बाजार थानाध्यक्ष सुनील कुमार सहनी लगातार क्षेत्र में दौरा करते नजर आए।

Edited By: Jagran