जमालपुर (मुंगेर) । विगत दिनों दिल्ली से आई क्वालिटी कंट्रोल आफ इंडिया की दो सदस्यीय टीम द्वारा जमालपुर नगर परिषद क्षेत्र जमालपुर को (ओडीएफ) खुले में शौच मुक्त नगर निकाय घोषित किया है। जानकारी हो कि दिल्ली से आई

क्वालिटी कंट्रोल ऑफ इंडिया की टीम ने 6 और 7 सितंबर को नगर परिषद क्षेत्र जमालपुर के विभिन्न वार्ड एवं स्लम एरिया का निरीक्षण किया था। टीम ने नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी दीनानाथ के साथ नगर परिषद द्वारा जारी शौचालय योजना के तहत व्यक्तिगत एवं काम्युनिटी मोबाइल टॉयलेट की साफ सफाई तथा गुणवत्ता की जांच की थी। वहीं, इस बात की भी जानकारी ली थी कि अब तक कहीं कोई खुले में शौच तो नहीं जा रहे। इस क्रम में मानक मापदंड पर खरा उतरने के बाद क्वालिटी कंट्रोल ऑफ इंडिया में नगर परिषद क्षेत्र जमालपुर को खुले में शौच मुक्त घोषित कर दिया है। इस बात की जानकारी का पत्र नगर परिषद प्रशासन को बुधवार की देर संध्या प्राप्त हुआ। वही इस संबंध में कार्यपालक पदाधिकारी दीनानाथ ने बताया कि नगर परिषद क्षेत्र के कुल 01 लाख 5 हजार 434 की जनसंख्या वाले कुल 36 वार्डों के लिए वर्ष 2014 से आईएचएचएल के तहत एक हजार 138 शौचालयों का निर्माण किया गया। क्वालिटी कंट्रोल की टीम ने यहां फाइन कलेक्शन मैकेनिज्म दुरुस्त पाया और नगर परिषद क्षेत्र में कुल तीन कम्युनिटी टॉयलेट को सुव्यवस्थित पाया था। इसके अलावे दो स्लम क्षेत्र वलीपुर हरिजन टोला और लक्ष्मणपुर , आवासीय क्षेत्र सिकंदरपुर एवं मुंगरौरा क्षेत्र सदर बाजार, सरस्वती विद्या मंदिर तथा संत मैरी स्कूल और बस स्टैंड क्षेत्र में शौचालय की स्थिति का जायजा लेने के बाद उसे सु²ढ़ पाया था। इसी आधार पर नगर परिषद क्षेत्र जमालपुर को ओडीएफ घोषित करने की अनुशंसा कर दिया गया है।

Posted By: Jagran