मधुबनी [जेएनएन]। सिक्किम की एक नाबालिग छात्रा के साथ अश्लील हरकत करने के आरोपित भारतीय राजस्व सेवा (आइआरएस) अधिकारी व पटना में इन्‍कम टैक्‍स ज्वाइंट कमिश्नर रामबाबू प्रसाद गुप्ता फिर नई आफत में हैं। उनकी पत्नी दीप्ति ने वैवाहिक संबंध विच्छेद के लिए मधुबनी परिवार न्यायालय के प्रधान न्यायधीश की अदालत में सोमवार को अर्जी दाखिल की है।

दीप्ति ने अपनी अर्जी में बताया है कि 14 दिसंबर 2015 को रामबाबू गुप्ता से विवाह के बाद से ही ससुराल सीतामढ़ी के लक्ष्मीपुर और पटना में रहने के दौरान पति द्वारा उनका लगातार उत्पीड़न किया जाता रहा। इसी दरम्यान उन्होंने यह भी पाया कि पति नपुंसक है।

उत्पीड़न बढ़ा तो कई दफे पंचायत भी हुई, जिसमें पति द्वारा तलाक देने की सहमति भी बनी। इसी क्रम में 12 अक्टूबर 2015 को ससुर जय नारायण महतो द्वारा उन्हें रहने के लिए एक फ्लैट  देने का एग्रीमेंट बनाया गया जो अबतक नहीं दिया गया है। समझौते के मुताबिक तलाक मिलने तक रामबाबू के निर्देश पर ससुर जयनारायण महतो द्वारा मासिक निर्वाह भत्ता के तौर पर पांच लाख के दो चेक दिए गए, जो बांउस हो गए। फिर, 16 फरवरी 2015 को पति रामबाबू व उनके परिवार द्वारा दीप्ति की बुरी तरह पीट व करीब 45 लाख मूल्य के जेवर, नकदी, कपड़े आदि छीन कर ससुराल से भगा दिया गया।

अर्जी में बताया गया है कि दीप्ति वर्ष 2010 से पति से अलग रह रही हैं। बीते करीब चार वर्ष से वे अपने मायके मधुबनी में रह रही हैं। इसी बीच पति रामबाबू गुप्ता ने पटना में सिक्किम की एक छात्रा के साथ अश्‍लील हरकत की। इस घटना के बाद तो सुलह की सारी संभावनाएं ही खत्‍म हो गईं।

दीप्ति ने तलााक के साथ 60 लाख रुपये के मेंटिनेंस खर्च के अलावा 50 लाख मूल्य के जेवर, नकदी, कपड़े की वापसी की गुहार लगाई है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस