मधुबनी। जिला मुख्यालय स्थित दो तालाबों को ईको-टूरिज्म के उद्देश्य से विकसित करने की योजना है। इसमें नगर परिषद तालाब एवं सूड़ी स्कूल के बगल में स्थित तालाब शामिल है। इन दोनों तालाबों को वन विभाग द्वारा विकसित किया जाएगा। हालांकि, दोनों तालाब जिस स्थल पर है, वह स्थल गैर-वन भूमि क्षेत्र के अंतर्गत आता है। इस कारण उक्त दोनों तालाब की जमीन वन विभाग के अधीन नहीं है। इसे देखते हुए प्रधान मुख्य वन संरक्षक (विकास) आशुतोष ने जिला पदाधिकारी को पत्र भेजकर अनुरोध किया है कि उक्त दोनों तालाबों को ईको-टूरिज्म के उद्देश्य ये विकसित करने के लिए संबंधित स्थलों को या तो वन विभाग को हस्तांतरित किया जाए या वन विभाग द्वारा कार्य करने हेतु जिलास्तर से अनापत्ति प्रमाण पत्र निर्गत किया जाए। गौरतलब है कि बिहार विधानसभा की प्राक्कलन समिति की उप-समिति-2 द्वारा नगर परिषद तालाब एवं सूड़ी स्कूल के बगल में स्थित तालाब को ईको-टूरिज्म के उद्देश्य से विकसित करने का कार्य करने हेतु वन विभाग को निर्देश दिया गया है। इस कारण वन विभाग के अधिकारी ने जिलाधिकारी से उक्त अनुरोध किया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस