मधुबनी। राजनगर प्रखंड क्षेत्र स्थित सिमरी पंचायत में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का 12 दिसंबर को प्रस्तावित कार्यक्रम है। मुख्यमंत्री के प्रस्तावित कार्यक्रम को लेकर जिला प्रशासन हर स्तर पर तैयारियां शुरू कर दी है। ताकि मुख्यमंत्री का प्रस्तावित कार्यक्रम पूरी तरह सफल हो सके। सुरक्षा व विधि-व्यवस्था सु²ढ़ बनी रह सके। इसी उद्देश्य के तहत शनिवार को जिला पदाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक एवं पुलिस अधीक्षक डॉ. सत्य प्रकाश ने राजनगर प्रखंड के सिमरी पंचायत स्थित मुख्यमंत्री के प्रस्तावित कार्यक्रम स्थलों एवं पंचायत सरकार भवन का गहन निरीक्षण किया। जल-जीवन-हरियाली, सात निश्चय एवं कई अन्य योजनान्तर्गत मुख्यमंत्री के प्रस्तावित कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लिया। मियावकी पद्धति से पौधारोपण से होने वाले लाभ की दी जानकारी निरीक्षण के क्रम में जिला कृषि पदाधिकारी ने डीएम को जानकारी दी कि मियावाकी पद्धति से सघन पौधारोपण कार्यक्रम का प्रदर्शन किया। उन्होंने जानकारी दी कि जापानी वनस्पति शास्त्री ककिरा मियावाकी द्वारा प्रतिपादित मियावाकी विधि के द्वारा स्थानीय पौधों का जंगल तैयार किया जाता है। इस विधि में पौधे 10 गुणा तेजी से बढ़ते हुए सामान्य से 30 गुणा ज्यादा सघन वन बनाते हैं। कम जगह में वन तैयार करने की यह आधुनिक विधि है। मौसम आधारित कृषि संबंधी प्रदर्शनी के तहत जलवायु परिवर्तन के अनुकूल कृषि यथा जीरो टीलेज पद्धति से गेहूॅ, धान, मसूर आदि फसल की खेती तथा फसल अवशेष प्रबंधन से संबंधित कृषि यंत्रों यथा हैप्पी सीडर, स्ट्रॉरीपर, स्ट्रॉबेलर तथा कृषि यांत्रिकरण बैंक आदि का प्रदर्शन भी किया जाएगा। फसल चक्र के अनुसार खरीफ, रबी एवं गरमा मौसम में की जानेवाली फसलों हेतु मृदा स्वास्थ्य कार्ड का निर्माण भी किया जायेगा। कृषि के क्षेत्र में नवान्मुखी कार्यक्रम के तहत टेरेस गोर्डेनिग, भर्टिकल गार्डेनिग, हैगिग गार्डेनिग, हाईड्रोपोनिक खेती, सौर उर्जा चालित शीतगृह आदि का भी प्रदर्शनी लगाई जाएगी। ड्रीप सिचाई पद्धति एवं मल्चिग पद्धति द्वारा कम लागत में सब्जी, पुष्प आदि की खेती का भी प्रदर्शनी लगाई जाएगी। मुख्यमंत्री द्वारा सिमरी पंचायत सरकार भवन के पूर्ण क्रियान्वयन का भी शुभारंभ 12 दिसंबर को किया जाएगा। सीएम करेंगे सरकारी विभागों के स्टॉल का भी निरीक्षण सीएम के प्रस्तावित कार्यक्रम के दिन विद्युत विभाग द्वारा ई-कॉस्ट के तहत सोलर प्लेट के माध्यम से विद्युत आपूर्ति का प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी। वहीं शिक्षा विभाग के द्वारा उन्नयन बिहार कार्यक्रम के तहत जल-जीवन-हरियाली अभियान का प्रचार-प्रसार एवं मधुबनी पेंटिग प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरूआत की जाएगी। मुख्यमंत्री 12 दिसंबर को यहां विभिन्न विभागों यथा-समाज कल्याण विभाग, अल्पसंख्यक कल्याण विभाग, कृषि विभाग, मत्स्य विभाग, मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना एवं राजस्व विभाग के स्टॉल का निरीक्षण भी करेंगे। इसके बाद जल-जीवन-हरियाली, शराबबंदी, दहेज एवं बाल विवाह उन्मूलन पर आगामी 19 जनवरी को होनेवाली मानव श्रृंखला की तैयारी को लेकर पूर्वाभ्यास का भी निरीक्षण मुख्यमंत्री करेंगे। निरीक्षण के दौरान मौजूद पदाधिकारी : डीएम एवं एसपी द्वारा सीएम के प्रस्तावित कार्यक्रम स्थलों का निरीक्षण के दौरान अपर समाहर्ता दुर्गानंद झा, उप विकास आयुक्त अजय कुमार सिंह, सदर एसडीओ सुनील कुमार सिंह, सदर एसडीपीओ कामिनीबाला, जिला कृषि पदाधिकारी सुधीर कुमार, सदर डीसीएलआर बुद्धप्रकाश, भवन निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता मधुकांत मंडल, जिला मत्स्य पदाधिकारी सूर्य प्रकाश राम, डीपीओ-आइसीडीएस डॉ. रश्मि वर्मा समेत जिला स्तरीय एवं प्रखंड स्तरीय कई पदाधिकारीगण मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस