मधुबनी । कोरोना संक्रमण के मामले मिलने का सिलसिला थम नहीं रहा है। शुक्रवार को जिले में कोरोना के छह पाजिटिव मामले सामने आए हैं। इनमें रहिका प्रखंड के तीन, हरलाखी के एक, बिस्फी के एक व जयनगर के एक संक्रमित शामिल हैं। पाजिटिव छह लोगों में चार महिला, एक युवक व एक बुजुर्ग हैं। इनमें सदर अस्पताल के फ्लू कार्नर के एक टेक्नीशियन व एक कर्मी भी शामिल हैं। बता दें कि वर्तमान में कोरोना के सात एक्टिव केस पहले से हैं। इस तरह जिले में एक्टिव केस की संख्या अब बढ़कर 13 हो गई है। जिले में 22 जून से अब तक मिले कोरोना पाजिटिव लोगों का ट्रेवल्स रेकार्ड खंगाला गया है। जिसमें किसी का भी ट्रेवल रेकार्ड जिले से बाहर का नहीं मिला है। इससे स्पष्ट होता है कि जिले में ही कोरोना का प्रसार बढ़ रहा है। जिला महामारी पदाधिकारी डा. अनिल चक्रवर्ती ने बताया कि शुक्रवार को मिले सभी छह कोरोना पाजिटिव का ट्रेवल्स रेकार्ड खंगाला जाएगा। पूर्व में मिले 14 में से सात मरीज स्वस्थ हो चुके हैं, जबकि सात अभी भी संक्रमित हैं। ------------------ मास्क का प्रयोग और शारीरिक दूरी को लेकर लोग उदासीन : जिले में कोरोना के लगातार सामने आ रहे नए मामलों को लेकर स्वास्थ्य विभाग हाई अलर्ट पर है। विभागीय स्तर पर कोरोना के संक्रमण के रोकथाम की तैयारी तेज कर दी गई है। वहीं, कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए आम लोग मास्क तथा शारीरिक दूरी बहाल रखने में उदासीनता बरत रहे हैं। शहर में मास्क का प्रयोग और सार्वजनिक स्थलों पर शारीरिक दूरी बहाल करने के प्रति अधिकांश लोग बेपरवाह नजर आ रहे हैं। रेलवे स्टेशन पर अधिकांश यात्रियों को बगैर मास्क देखा जा रहा है। रेलवे स्टेशन, बस पड़ाव में अधिकांश लोग बगैर मास्क में खुलेआम शारीरिक दूरी की अनदेखी करते देखे जाते हैं। स्वास्थ्य विभाग का आम लोगों के लिए कोरोना गाइडलाइन के पालन की नसीहत बेअसर दिख रही है। --------------------- सब्जी मंडी, फुटपाथी विक्रेताओं के चेहरों से मास्क गायब : शहर के गिलेशन बाजार, स्टेशन चौक, शंकर चौक सब्जी मंडी तथा फुटपाथ पर सब्जी, फल विक्रेताओं को बगैर मास्क में देखा जा रहा है। वहीं, देश के विभिन्न हिस्सों से ट्रेन से स्थानीय रेलवे स्टेशन पहुंचने वाले यात्रियों की कोविड जांच की गति धीमी हो गई है। विभिन्न ट्रेनों से प्रतिदिन करीब एक हजार लोग स्थानीय रेलवे स्टेशन पर उतरते हैं। अधिकांश यात्री स्टेशन पर कोविड जांच के बगैर घर चले जाते हैं। ऐसी स्थिति में कोरोना संक्रमण को रोकना मुश्किल होगा। स्थानीय बस स्टैंड पर कोरोना जांच की सुविधा बहाल नहीं की गई है। सिविल सर्जन डा. सुनील कुमार झा ने बताया कि कोरोना से बचाव के लिए मास्क का प्रयोग और शारीरिक दूरी का पालन करना अति आवश्यक है। लोगों को कोविड टीका जरूर लेना चाहिए। सीएस ने बताया कि जिले में टीकाकरण अभियान में तेजी लाई जा रही है। जिले में अब तक 50 लाख 65 हजार 682 टीका लगाए गए हैं।

Edited By: Jagran